education: मॉडल स्कूलों में पढऩे रुचि नहीं दिखा रहे विद्यार्थी, जानें वजह

- प्रवेश परीक्षा में शामिल होने नाममात्र आए आवेदन

By: Dinesh Sahu

Updated: 18 Feb 2020, 12:11 PM IST

छिंदवाड़ा/ जिले में संचालित शासकीय मॉडल स्कूलों में पढऩे में छात्र-छात्राओं की रुचि कम होते जा रही है, जबकि जिला मुख्यालय पर संचालित शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय छिंदवाड़ा में पढऩे के लिए बड़ी संख्या लोगों की मंशा है। विभाग द्वारा जारी प्रवेश परीक्षा वर्ष 2020-21 के तहत ऑनलाइन किए गए आवेदनों में यह मामला प्रकाश में आया है।

उत्कृष्ट विद्यालय छिंदवाड़ा प्राचार्य आइएम भीमनवार ने बताया कि शासन के निर्देश पर कक्षा नवमीं में प्रवेश के लिए आयोजित होने वाली प्रवेश परीक्षा में शामिल होने के ऑनलाइन आवेदन मांगे थे, जिसके लिए पहले अंतिम तिथि 10 फरवरी तथा इसके बाद 15 फरवरी 2020 तक की गई थी।

प्राचार्य भीमनवार ने बताया कि जिला मुख्यालय में स्थित उत्कृष्ट विद्यालय में कक्षा नवमीं के लिए अधिकतम 240 सीट निर्धारित है, जिसके लिए 1524 बच्चों ने आवेदन किया गया है। प्रवेश परीक्षा के रिजल्ट आने के बाद मेरिट सूची तैयार होगी, जिसके आधार पर विद्यार्थियों को प्राथमिकता के आधार पर प्रवेश दिया जाएगा।

प्रचार-प्रसार में कमी भी एक वजह -


मॉडल स्कूलों में मिलने वाली सुविधाएं तथा शैक्षणिक स्तर के संदर्भ में स्थानीय शिक्षा अधिकारियों द्वारा प्रचार-प्रसार में कमी होने की वजह से उक्त स्थिति निर्मित होती है। इसके अलावा कुछ विकासखंडों में अन्य शासकीय संस्थाएं भी संचालित है, जिसमें भी विद्यार्थियों को कई तरह की सुविधाएं प्रदान की जाती है। इसकी वजह से विद्यार्थी कम ही आवेदन करते है।

मॉडल स्कूलों की स्थिति -


संस्था का नाम प्रवेश के लिए किए गए आवेदन स्कूल में सीट क्षमता

1. मॉडल स्कूल जुन्नारदेव 08 80
2. मॉडल स्कूल तामिया 03 80

3. मॉडल स्कूल अमरवाड़ा 106 80
4. मॉडल स्कूल हर्रई 207 80

5. मॉडल स्कूल परासिया 79 80

Show More
Dinesh Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned