scriptEducation: The department spent four months in admission itself | Education: विभाग ने दाखिले में ही बिता दिए चार माह, छात्र कैसे देंगे परीक्षा | Patrika News

Education: विभाग ने दाखिले में ही बिता दिए चार माह, छात्र कैसे देंगे परीक्षा

अंतिम दिन भी काफी विद्यार्थियों ने रिक्त सीटों पर आवेदन देकर प्रवेश लिया।

छिंदवाड़ा

Published: November 30, 2021 12:57:59 pm

छिंदवाड़ा. उच्च शिक्षा विभाग द्वारा कॉलेजों में सत्र 2021-22 में स्नातक, स्नातकोत्तर में प्रवेश के लिए आयोजित किया जा रहा सीएलसी चतुर्थ अतिरिक्त चरण सोमवार को समाप्त हो गया। अंतिम दिन भी काफी विद्यार्थियों ने रिक्त सीटों पर आवेदन देकर प्रवेश लिया। बड़ी बात यह है कि उच्च शिक्षा विभाग द्वारा लगभग सातवीं बार प्रवेश प्रक्रिया का चरण बढ़ाया गया है। बताया जाता है कि विभाग प्रवेश प्रक्रिया के लिए अभी एक और चरण आयोजित कर सकता है। यानी चार माह से चली आ रही प्रवेश प्रक्रिया आगे भी जारी रह सकती है। जानकारों का कहना है कि उच्च शिक्षा विभाग ने 1 अगस्त से प्रवेश प्रक्रिया शुरु की जो नवंबर माह के अंत तक चली है। चार माह चले प्रवेश प्रक्रिया की वजह से कॉलेजों में अध्यापन कार्य प्रभावित रहा और अभी भी विभाग इस बात पर आश्वस्थ नहीं है कि आगे प्रवेश प्रक्रिया आयोजित की जाएगी या नहीं। विभाग खुद के बनाए शैक्षणिक कैलेंडर के अनुसार नहीं चल पा रहा है। नवंबर-दिसंबर माह में विभाग ने परीक्षा के आयोजन की बात कही है। जिन विद्यार्थियों को नवंबर में प्रवेश मिला है वे पाठ्यक्रम कैसे पूरा करेंगे, विभाग के पास इस संबंध में कोई योजना नहीं है। कॉलेजों के लिए अब विद्यार्थियों का पाठ्यक्रम पूरा कराना एवं परीक्षा के लिए तैयार करना एक बड़ी चुनौती है।
engineering college admission
engineering college admission

हर साल विभाग करता है लेटलतीफी
ऐसा पहली बार नहीं है जब उच्च शिक्षा विभाग ने प्रवेश के लिए सात से आठ चरण की प्रक्रिया आयोजित की हो। पिछले वर्षो में भी ऐसा ही रहा है। यही वजह है कि विद्यार्थी कोर्स से पिछड़ जाते हैं। पूरे वर्ष कॉलेजों में प्रवेश प्रक्रिया चलने से अध्यापन व्यवस्था पटरी पर नहीं आ पाती। जानकारों का कहना है कि यही वजह है कि विद्यार्थियों में शिक्षा की गुणवत्मा की कमी हो जाती है।
करना होगा उपाय
जानकारों का कहना है कि उच्च शिक्षा विभाग को हर हाल में एक माह में प्रवेश प्रक्रिया पूरी करनी चाहिए। अगर ऐसा हुआ तो सत्र विलंब से नहीं चलेगा और समय पर पाठ्यक्रम पूरा हो जाएगा।
इनका कहना है
उच्च शिक्षा विभाग से परीक्षाओं की तिथि आगे बढ़ाने के लिए निवेदन किया जाएगा। जिन विद्यार्थियों ने अभी दाखिला लिया है या जोा कोर्स से पिछड़ गए हैं उनके लिए एक्स्ट्रा क्लास की व्यवस्था बनाई जाएगी। यह बात सही है कि अधिकतर समय प्रवेश प्रक्रिया में ही चला गया।
डॉ. अमिताभ पांडे, प्राचार्य, लीड कॉलेज, छिंदवाड़ा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

SSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगानिलंबित एडीजी जीपी सिंह के मोबाइल, पेन ड्राइव और टैब को भेजा जाएगा लैब, खुल सकते हैं कई राजUP Election 2022: सपा कार्यालय में आयोजित रैली में टूटा कोविड प्रोटोकॉल, लखनऊ के गौतमपल्ली थाने में सपा नेताओं पर FIR दर्जविराट कोहली ने किसके सिर फोड़ा हार का ठीकरा?, रहाणे-पुजारा का पत्ता कटना तयएसईसीएल ने प्रभावित गांवों को मूलभूत सुविधा देना किया बंद, कोल डस्ट मिले पानी से बर्बाद हो रहे हैं खेत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.