सामाजिक समरसता का संदेश लेकर पहुंची एकात्म यात्रा

Rajendra Sharma

Publish: Jan, 14 2018 05:15:20 PM (IST)

Chhindwara, Madhya Pradesh, India
सामाजिक समरसता का संदेश लेकर पहुंची एकात्म यात्रा

शहर में महापौर ने की अगवानी, पुलिस ग्राउंड में हुआ कार्यक्रम

छिंदवाड़ा. आदिगुरु शंकराचार्य की अष्टधातु प्रतिमा के निर्माण में लग रही धातु और मिट्टी के संग्रहण के लिए निकाली गई एकात्म यात्रा ने शनिवार को चौरई, उमरिया ईसरा और छिंदवाड़ा में सामाजिक समरसता का संदेश दिया। गांवों में जगह-जगह जनसमुदाय ने गर्मजोशी से आरती उतारकर अगवानी की और शंकराचार्य जी की पादुका का पूजन किया। इस यात्रा के आगमन पर पुलिस ग्राउंड मैदान में कार्यक्रम हुआ, जिसमें बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए और पादुका पूजन किया।
इस यात्रा का अमरवाड़ा से होते हुए चौरई में प्रवेश हुआ। ग्रामीणजनों ने अतिथियों एवं यात्रियों पर पुष्पवर्षा की। आदि शंकराचार्य की पादुकाओं व यात्रा ध्वज का पूजन अर्चन किया गया। कार्यक्रम में देवी स्वरूपा बालिकाओं का पूजन के साथ ही कुछ संतों का शॉल श्रीफल से सम्मान भी किया गया। यात्रा में संत महामंडलेश्वर हरिहरानंद महाराज, गणेशगिरी महाराज और सुदर्शनदास महाराज के साथ ही स्थानीय संतों की टोली चल रही है।
प्रदेश के एकात्म यात्रा प्रभारी डॉ. जितेंद्र जामदार ने यात्रा के उद्देश्य के साथ ही आदि शंकराचार्य के अद्भुत जीवन पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम में मुक्तानंद स्वामी महाराज और महामंडलेश्वर हरिहरानंद महाराज ने एकात्म यात्रा की मूल संकल्पना और अद्वैतवाद पर विस्तार से जानकारी देकर सभी में एक ही आत्मा के होने के भाव को बताते हुए सामाजिक समरसता पर जोर दिया। जनसंवाद के उपरांत समरसता भोज आयोजित हुआ।

उमरिया ईसरा में गर्मजोशी से अगवानी

छिंदवाड़ा विकासखंड के प्रवेश द्वार ग्राम उमरिया ईसरा में विधायक चौधरी चंद्रभान सिंह की अगुआई में एकात्म यात्रा की गर्मजोशी से अगवानी की गई। एसडीएम राजेश शाही और जनपद सीईओ कंचन वास्कले ने शंकराचार्य की पादुका का पूजन कर उसे सिर पर रखा। इस अवसर पर उमरिया सरपंच पंखी जयभान उइके, बोहनाखैरी की जयंती अर्जुन पटेल, सचिव राकेश चंदेल समेत अधिकारी-कर्मचारी व अन्य ग्रामीणजन शामिल हुए।

यात्रा में दिया मानवता धर्म का परिचय

एकात्म यात्रा का छिंदवाड़ा शहर में प्रवेश होने पर महापौर कांता सदारंग, विधायक चौधरी चंद्रभान सिंह समेत अन्य जनप्रतिनिधियों ने इसकी अगवानी की और शंकराचार्य की पादुका का पूजन किया। इस यात्रा में शामिल अतिथियों का पुलिस ग्राउंड में स्वागत किया गया। मुस्लिम समाज की नुजहत बकाई ने आदि शंकराचार्य की पादुका सिर पर उठाकर मानवता धर्म का परिचर्य दिया। बता दें कि नुजहत जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी हैं।

Ad Block is Banned