Election: जहां महिला-पुरुष लिंगानुपात कम,वहां तैयार होगा एक्शन प्लान

निर्वाचन प्रेक्षक खंडेलवाल ने ली अधिकारियों की समीक्षा बैठक

 

By: manohar soni

Published: 19 Mar 2020, 12:13 PM IST

छिन्दवाड़ा/राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जिले में नगरीय निकायों और त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन के अंतर्गत फोटोयुक्त मतदाता सूची के वार्षिक पुनरीक्षण के पर्यवेक्षण के लिए नियुक्त प्रेक्षक राम अवतार खंडेलवाल ने अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में प्रेक्षक खंडेलवाल ने पंचायतवार एवं नगरी निकायवार मतदान केंद्रों, पुरुष एवं महिला मतदाताओं की संख्या तथा लिंगानुपात की विस्तृत जानकारी ली।
उन्होंने कहा कि जिन निकायों में महिला एवं पुरुष का लिंगानुपात कम है, वहां लिंगानुपात बढ़ाने के लिए एक्शन प्लान तैयार किया जाए। मतदाता जागरूकता (सेंस) की गतिविधियों के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए जिला स्तर पर कार्य योजना बनाएं। नवीन मतदाताओं को जोडऩे के लिए सेंस के लिए प्राधिकृत अधिकारी एवं गठित दल अपने-अपने क्षेत्र के हाई व हायर सेकेंडरी स्कूलों और कॉलेजों में अनिवार्य रूप से शिविर कर उन्हें जागरूक करें। प्राधिकृत अधिकारियों के बैठने के लिए कौन-सा स्थान नियत किया गया है जिससे मतदाताओं को संपर्क करने में असुविधा नहीं हो। नवीन मतदाता, महिला मतदाता एवं दिव्यांग मतदाताओं के नाम जोडऩे के लिए विशेष अभियान चलाया जाए। बैठक में मास्टर ट्रेनर्स राजेन्द्र सिंह ठाकुर द्वारा स्थानीय निकाय से संबंधित जिले की सामान्य जानकारी प्रस्तुत की गई। उन्होंने बताया कि वर्ष 2018 में जनपद पंचायतों में मतदान केंद्रों की कुल संख्या 2133 थी जो अब बढ़कर 2186 हो गई है। इसी तरह नगरीय निकायों में मतदान केंद्रों की संख्या वर्ष 2018 में 517 थी जो बढ़कर 540 हो गई है। मास्टर ट्रेनर पी.एन.सनेसर ने मतदाता जागरुकता के लिए की जाने वाली सेंस गतिविधियों की कार्यवाहियों की विस्तृत जानकारी प्रस्तुत की।

Patrika
manohar soni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned