जानें क्या है माजरा बिजली कटौती और ज्यादा बिल

बिजली विभाग के वरिष्ठ अधिकारी को ज्ञापन दिया

शहर के नेता प्रशासन से तो ग्रामीण क्षेत्र के नेता मिले बिजली कम्पनी के अधिकारी से, जानें क्या है माजरा
बिजली कटौती और ज्यादा बिल का मुद्दा
छिंदवाड़ा / कांग्रेस किसानों और आम लोगों के के मुद्दों को लेकर अब मुखर हो रही है। शुक्रवार को शहर के कांग्रेस नेताओं ने ग्रामीण क्षेत्र के किसानों के यहां आ रहे अनाप शनाप बिल और की जा रही अघौषित कटोती को लेकर प्रशासन को सीएम के नाम ज्ञापन दिया। इधर ग्रामीण क्षेत्र के नेताओं ने बिजली विभाग के वरिष्ठ अधिकारी से मिलकर किसानों की समस्याएं बताई और उन्हें दूर करने कहा।
शहर कांग्रेस अध्यक्ष पंकज शुक्ला के नेतृत्व में कलेट्रेट पहुंचकर प्रशासनिक अधिकारियों को एक ज्ञापन दिया गया। जिसमें एवरेज बिल के नाम पर आम उपभोक्ताओं को दिए जा रहे ज्यादा राशि के बिलों का विरोध करते हुए इनमें सुधार करने और लाकडाउन की स्थिति के बिल माफ करने की मांग की गई। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि कांग्रेस की नया सवेरा योजना को भाजपा सरकार ने बंद कर दिया है। इसकी जानकारी भी लोगों को नहीं दी जा रही है। आम आदमी इस समय संकटग्रस्त है। ऐसे में बिजली बिल माफ हो और भविष्य में रीडिंग के आधार पर ही बिल दिए जाएं। ज्ञापन देते समय पाहकर परवेज, चंद्रभान देवरे, रामिशन, राम शर्मा, रजनीश पांडे, अजय सिन्हा, मनोज सक्सेना, शैलू मिश्रा आदि उपस्थित थे।
इधर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी छिन्दवाड़ा ने ग्रामीण क्षेत्रों में इसी मुद्दे को लेकर बिजली विभाग के वरिष्ठ अधिकारी को ज्ञापन दिया। अमित सक्सेना के नेतृत्व अधीक्षण यंत्री शरद श्रीवास्तव से कांग्रेस नेता मिले और बिजली विभाग द्वारा दिए जा रहे बिलों में ज्यादा राशि को लेकर विरोध दर्ज कराया। कोरोना वायरस के चलते आर्थिक रूप से टूट चुके मजदूरों व किसानों के तीन माह के सभी प्रकार के बिल माफ किए जाने की मांग की गई। अधिकारी को दिए ज्ञापन में कांग्रेस नेताओं ने कहा कांग्रेस सरकार में पिछले साल अप्रैल मई में सौ रुपए बिल आता था। इस बार 2000 रुपए तक के बिल दिए गए हैं। उन्होंने बिजली बिल समय पर न भरने पर लाइन न काटे जाने की मांग भी की। जरूरत से ज्यादा बिजली कटौती की बात भी अधिकारी से की गई। इस मौके पर जीवन सिंह रघुवंशी ,भैयाजी शिवारे ,दिगम्बर ठाकरे ,पुष्पेन्द्र चौधरी ,अनिमेष माहोरे ,महेश अल्डक़ सहित अन्य नेता मौजद रहे।

chandrashekhar sakarwar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned