इस रोग से हर तीसरा व्यक्ति पीड़ित, जानें वजह

विश्व मधुमेह दिवस - असंतुलित जीवन बढ़ा रहा मर्ज, पांच में से तीसरा व्यक्ति मधुमेह पीडि़त

By: Dinesh Sahu

Published: 15 Nov 2018, 11:22 AM IST

छिंदवाड़ा. जिले में डायबिटिज (मधुमेह) रोग एक गंभीर समस्या बन गई है। यहां पांच में से हर तीसरा व्यक्ति मधुमेह रोग से पीडि़त है। इसमें महिलाओं की अपेक्षा पुरुषों की संख्या अधिक है। इसकी वजह असंतुलित दिनचर्या और खानपान बताया जाता है। विश्व मधुमेह दिवस के उपलक्ष्य पर चिकित्सा अधिकारी डॉ. दीपेंद्र सलामे से चर्चा की गई, जिसमें उन्होंने बताया कि डायबिटिज नहीं खत्म होने वाली बीमारी है, इस पर सिर्फ नियंत्रण लाया जा सकता है।

 

मधुमेह रोग को तीन कैटेगिरी में रखा जा सकता है। पहले में अनुवांशिक, दूसरे में दुबले-पतले लोग तथा तीसरे में मोटापा शामिल है। इसमें लगातार वजन बढऩा या घटना मुख्य वजह मानी जाती है। जिला अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार हर माह 700 से 900 मरीज उपचार के लिए पहुंचते है। इसमें करीब ५०० मरीज पुरुष होते है। संतुलित भोजन और नियमित व्यायाम से ही रोग पर नियंत्रण पाया जा सकता है।


इनसे करें परहेज


मिठाई, शक्कर, शहद, जैम-जैली, केक, पेस्ट्री आदि के सेवन कम करें. ये करें उपयोग - दानेदार मेवे, अनाज, जड़ों वाली सब्जियां, आलू, शकरकंद, चुकंदर, शलजम, दाल, फल, दूध को निर्धारित मात्रा में तथा हरी पत्तेदार सब्जी, मसोल व रेशेदार आहार का सेवन करना चाहिए।


फैक्ट फाइल


अप्रैल से सितम्बर 2018 तक की रिपोर्ट


बीमारी का नाम आयु वर्ग मरीज पुरुष महिला
मुधमेह 25 से 55 4891 2577 2314
हायपरटेंशन 25 से 55 6754 3919 2840
हृदय रोग 25 से 55 163 105 58
कैंसर रोग 25 से 55 95 41 54
मधुमेह 55 से अधिक 3385 1886 1499
हायपरटेंशन 55 से अधिक 3581 2024 1557
जिला अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार

 

Dinesh Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned