Expensive treatment: मंत्री के निशाने पर निजी अस्पताल, नकेल कसने की तैयारी

प्रभारी मंत्री ने एसडीएम से कहा निजी अस्पतालों से पूछिए आवंटित रेमडेसिविर इंजेक्शन मरीज को लगाया भी है या नहीं

By: prabha shankar

Published: 02 May 2021, 11:58 AM IST

छिंदवाड़ा। प्रदेश के सहकारिता के साथ कोविड के प्रभारी मंत्री डॉ.अरविंद भदौरिया ने छिंदवाड़ा के प्राइवेट हॉस्पिटल में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी और महंगे इलाज की शिकायत पर एसडीएम को जांच के लिए निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि निजी अस्पतालों से यह पूछिए कि जिस मरीज पर इंजेक्शन दिया गया है, उसे लगाया गया है या नहीं। इस पर मरीज से फोन पर बात भी की जा सकती है। इसी तरह महंगा इलाज होने पर मरीजों की सूची के अनुसार बिल मांग कर जांच की जाए। इससे वास्तविकता सामने आ जाएगी।
प्रभारी मंत्री शनिवार को आपदा प्रबंधन समिति की बैठक के बाद पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। इस दौरान मंत्री का ध्यान प्राइवेट अस्पताल और एम्बुलेंस चालकों की मनमानी पर आकर्षित किया गया था। एम्बुलेंस पर मंत्री ने कहा कि प्रशासन एम्बुलेंस चालकों के मनमाने किराए पर कार्रवाई करेगा। इसके साथ ही किराया तय किया जाएगा।
छिंदवाड़ा में कोरोना से लगातार मौतों और श्मशान घाट में बढ़ रहे आंकड़ों पर मंत्री ने कोई सीधा जवाब नहीं दिया। रेमेडसिविर इंजेक्शन के बारे में यह जरूर कहा कि छिंदवाड़ा में प्रतिदिन 200 इंजेक्शन आ रहे हैं। प्रशासन ने अलग से भी सम्बंधित कम्पनी को इसके ऑर्डर दिए हैं।

यह भी कहा प्रभारी मंत्री ने
1. छिंदवाड़ा में पॉजिविटी रेट पहले 18-19 प्रतिशत था, कफ्र्यू से अब 4.6 प्रतिशत तक नीचे आ गया है।
2. छिंदवाड़ा में प्लाज्मा देने की मशीन 51 लाख रुपए में खरीदने का ऑर्डर दिया गया है। यह मशीन तीन मई तक आ जाएगी। इस पद्धति में रेमडेसिविर इंजेक्शन से अधिक रोगी की जान बचाने की क्षमता है।
3. सौ ऑक्सीजन कंसेक्ट्रेटर मशीन 50 लाख रुपए की लागत के खरीदने के ऑर्डर दिए गए हैं। पोर्टेबल डिजिटल एक्स-रे मशीन की भी खरीदी की जा रही है।
4.बोरिया ऑक्सीजन प्लांटके शुरू होने पर 600 सिलेण्डर भरे जा सकेंगे। ऑक्सीजन की दृष्टि से छिंदवाड़ा आत्म निर्भर हो गया है और बैतूल, होशंगाबाद समेत दस जिलों को ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है।
5.विधानसभा स्तर पर क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी बनेगी। यह समिति हर व्यक्ति के स्वास्थ्य की देखभाल करेगी।
6.कोरोना कंट्रोल करने 17 मई को सुबह छह बजे तक कोरोना कफ्र्यू जारी रखने का फैसला किया गया है।

prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned