कोल ब्लॉक में मजदूरों का हो रहा शोषण

सियालघोघरी कोल ब्लॉक में काम करने वाले स्थानीय मजदूरों के शोषण को लेकर सोमवार को जिला पंचायत सदस्य कमलेश उइके के नेतृत्व में एसडीएम को ज्ञापन दिया गया।

छिंदवाड़ा. परासिया. सियालघोघरी कोल ब्लॉक में काम करने वाले स्थानीय मजदूरों के शोषण को लेकर सोमवार को जिला पंचायत सदस्य कमलेश उइके के नेतृत्व में एसडीएम को ज्ञापन दिया गया। ज्ञापन में कहा गया कि कोल ब्लॉक में एक तो स्थानीय मजदूरों को नियमित रूप से काम नहीं दिया जा रहा है। उन्हें परिचय पत्र भी नहीं दिया गया। साथ ही उनकी भविष्य निधि भी नहीं काटी जा रही है। इसके अलावा स्वास्थ्य सुविधाओं सहित सामाजिक सुरक्षा भी नहीं मिल रही है।
जिला पंचायत सदस्य ने बताया कि कोल ब्लॉक का संचालन रिलायंस कंपनी के द्वारा किया जा रहा है। जिसमें स्थानीय मजदूरों को प्रबंधन निकालते जा रहा है। वही दूसरे राज्यों के कर्मचारियों को बढ़ाते जा रहा है।
मजदूरों को उचित वेतन भी नहीं मिल रहा है। उन्हें पीएफ नंबर भी नहीं दिया गया है। लेकिन प्रतिमाह पीएफ की राशि काटी जा रही है। मजदूरों का नाम बी फार्म में है पर उनका पीएफ नहीं काटा जा रहा है। जिला पंचायत सदस्य के अनुसार खदान में करीब 800 मजदूर कार्यरत है। जिसमें स्थानीय मजदूर लगातार शोषण के शिकार हैं। पिछले दिनों भी अपने अधिकारों को लेकर मजदूरों ने विरोध प्रदर्शन किया था। ज्ञापन देते समय बड़ी संख्या में मजदूर वर्ग शामिल रहा।

arun garhewal
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned