शासकीय प्राथमिक-माध्यमिक स्कूलों में बढ़ेगी सुविधाएं, जानें वजह

- कोरोना संक्रमण से सुरक्षा को देखते हुए शासन ने जारी किए लाखों रुपए का बजट

By: Dinesh Sahu

Published: 23 Aug 2020, 12:42 PM IST

छिंदवाड़ा/ समग्र शिक्षा अभियान के तहत जिले के शासकीय प्राथमिक एवं माध्यमिक स्कूलों में हैंडवॉस यूनिट का निर्माण किया जाएगा, जिसके लिए शासन ने प्रशासकीय स्वीकृति दे दी है। साथ ही जिले के ऐसे स्कूल जहां बिजली की सुविधा नहीं है, उन स्कूलों में भी विद्युत आपूर्ति की व्यवस्था बनाई जाएगी। इसके लिए बजट स्वीकृत किया गया है।

बताया जाता है कि जिन स्कूलों में पहले से ही हैंडवॉस यूनिट है, वहां स्वीकृत बजट को अन्य निर्माण कार्य में उपयोग में लिया जा सकता है तथा ऐसे स्कूल जहां छात्र संख्या 200 से अधिक है वहां दो यूनिट बनाई जा सकती है।

कार्य की गुणवत्ता के लिए जिला शिक्षा केंद्र के तकनीकी अमले द्वारा निरीक्षण एवं मूल्यांकन किया जाएगा। राज्य शिक्षा केंद्र आयुक्त लोकेश कुमार जाटव के निर्देशानुसार निर्माण एजेंसी शाला प्रबंधन समिति होगी। बताया जाता है कि हैंडवॉस यूनिट कोविड-19 संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए किया जा रहा है।


विद्युत कनेक्शन विहिन स्कूलों को प्राथमिकता -


बिजली कनेक्शन में सबसे पहले ऐसे स्कूलों को प्राथमिकता देना है, जहां कनेक्शन नहीं है। शाला सिद्धी के तहत चयनित स्कूलों में भी बिजली देना है तथा विद्युत संयोजन की प्राथमिकता क्रमश: एक परिसर एक शाला वाली प्राथमिक-माध्यमिक स्कूल, इसके बाद केवल माध्यमिक स्कूल तथा बाद में प्राथमिक स्कूलों को बिजली देना है। इसके अलावा अन्य दिशा-निर्देशों का भी पालन किया जाना अनिवार्य है।


शासन से जारी बजट की स्थिति -


1. जिले में 236 हैंडवॉस यूनिट के लिए 35.40 लाख रुपए।
2. जिले में 36 स्कूल के लिए 7.92 लाख रुपए।

Dinesh Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned