मंडी गेट पर तालाबंदी कर सडक़ पर बैठे किसान

जिला आपूर्ति अधिकारी व अन्य की समझाइश के बाद प्रदर्शन थमा और स्थिति सामान्य हो पाई

By: prabha shankar

Published: 24 May 2018, 11:29 AM IST

छिंदवाड़ा/चौरई . चौरई की कृषि उपज मंडी में भावांतर योजना में चल रही चना खरीदी को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। सोमवार और मंगलवार को हुए हंगामे के बाद बारदाने के अभाव में बुधवार को भी चना खरीदी बंद हो जाने से आक्रोशित किसानों ने कांग्रेसी नेताओं के साथ मिलकर मंडी के गेट पर ताला लगा दिया। इसके बाद बारदानों को सडक़ पर जलाकर विरोध जताया और जमकर नारेबाजी की। मामले की सूचना मिलने पर टीआई रघुनाथ खातरकर अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे और प्रदर्शकारियों को समझाइश दी। जिला आपूर्ति अधिकारी व अन्य की समझाइश के बाद प्रदर्शन थमा और स्थिति सामान्य हो पाई।

शाम को पहुंचीं जिला आपूर्ति अधिकारी
प्रदर्शनकारियों से बात करने जिले की खाद्य आपूर्ति अधिकारी नुजहत बकाई बानो शाम को चौरई पहुंची। उन्होंने बताया कि अब चौरई में बारदाने की कमी नहीं होगी। खरीदे गए चने का परिवहन होने तक तीन दिनों के लिए चौरई स्थित पेंच कॉलोनी में खरीदी की जाएगी और शेड खाली होने पर तीन-तीन दिनों के लिए पेंच कॉलोनी और मंडी में चना खरीदा जाएगा। वहीं खरीदी की तारीख बढऩे पर सूचना दी जाएगी। खाद्य अधिकारी से बातचीत करने और व्यवस्था ठीक करने के आश्वासन के बाद ही प्रदर्शनकारी मंडी गेट से हटे ।

प्रबंधक और नेताओं में तीखी बहस
प्रदर्शन शुरू होने के करीब दो घंटे बाद सोसायटी प्रबंधक रामबाण शर्मा मौके पर पहुंचे और छिंदवाड़ा से बारदाने रवाना होने की सूचना दी। इस दौरान प्रबंधक शर्मा और कांग्रेस नेताओं के बीच तीखी बहस हुई। कांग्रेसियों ने खरीदी कर रहे कर्मचारियों पर किसानों से अभद्रता करने और बारदाने रहने पर भी किसानों का चना केंद्र में नहीं तौलने का आरोप लगाया। उल्लेखनीय है कि बीते तीन-चार दिनों से मंडी में रोजाना हंगामा हो रहा है।

ये रहे मौजूद
मंडी गेट पर हंगामे और प्रदर्शन के दौरान किसानों के साथ कांग्रेस नेता चौधरी गंभीर सिंह, बैजू वर्मा, बंटी पटेल, तीरथ ठाकुर कुलदीप सेंगर, सादिक अली मीर, अंकित पांडे, रॉबी ठाकुर, हर्ष विश्वकर्मा समेत बड़ी संख्या में लोग उपस्थित रहे।

prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned