लॉकडाउन के कारण किसान फेंक रहे सब्जी, टमाटर

वर्तमान में खेतों में किसानों द्वारा टमाटर लगाए गए थे जो अब पककर लाल हो गए है किन्तु इनकी उचित कीमत न मिलने के कारण अब किसान टमाटर को खेतों के पास ही नष्ट कर रहे है ।

By: Sanjay Kumar Dandale

Published: 05 May 2020, 05:48 PM IST

छिंदवाड़ा/खैरवानी. समूचे जुन्नारदेव विकासखंड में लॉकडाउन का असर सब्जी विक्रेता किसानों को पड़ा है। किसान लॉकडाउन के चलते अपने घरों से मंडी तक सब्जी विक्रय करने नहीं पहुंच पा रहे है इसके कारण किसानों की सब्जियां खेतों में ही खराब हो रही है। वर्तमान में खेतों में किसानों द्वारा टमाटर लगाए गए थे जो अब पककर लाल हो गए है किन्तु इनकी उचित कीमत न मिलने के कारण अब किसान टमाटर को खेतों के पास ही नष्ट कर रहे है या मवेशियों को खिला रहे है। किसानों का कहना है कि लॉकडाउन के कारण वे सब्जी का विक्रय नहीं कर पा रहे है ऐसे में उन्हें भारी नुकसान भी हो रहा है।
पुन: गेहूं खरीदी पंजीयन की रखी मांग
अंचल में लॉकडाउन के पूर्व गेंहू पंजीयन का कार्य शासन प्रशासन द्वारा किया गया था किन्तु अधिकतर ग्रामीण अंचल के किसान शासन की इस योजना में अपना पंजीयन नहीं करा पाये है जिसका मुख्य कारण कांग्रेस सरकार में पंजीयन के बाद गेंहू खरीदी को लेकर किसानों के मन में शंका का होना बताया गया था। वर्तमान में जुन्नारदेव विधानसभा में अधिकतर किसानों द्वारा गेंहू खरीदी के लिए अपना पंजीयन नहीं करा पाने के कारण अब उनका गेंहू घरों पर ही पड़ा हुआ है। सरकारी रेट से गेंहू खरीदी के बाद किसानों को आर्थिक लाभ होना बताया गया है जबकि बाजार में दलाल गेंहू को ओने पोने दाम में खरीद रहे है जिससे किसानों को आर्थिक नुकसान होना बताया गया है।

Sanjay Kumar Dandale
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned