जिला अस्पताल में उपचार के लिए जेब करनी पड़ेगी ढीली, जानें वजह

- शासन के निर्देश पर पुन: लागू हुई शुल्क व्यवस्था, कोरोना के चलते करीब आठ महीने से था पूरी तरह निशुल्क

By: Dinesh Sahu

Published: 22 Nov 2020, 10:21 AM IST

छिंदवाड़ा/ छिंदवाड़ा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस से सम्बद्ध जिला अस्पताल में उपचार तथा ब्लड-यूरिन जांच के लिए मरीजों को अब शुल्क देना होगा। शासन के निर्देश के बाद करीब आठ महीने बाद उक्त व्यवस्था फिर से लागू हो गई है, जबकि कोरोना संक्रमण के चलते माह अप्रैल से सभी तरह का उपचार निशुल्क कर दिया गया था। हालांकि कोरोना मरीजों के लिए व्यवस्था अभी भी निशुल्क रहेगी तथा शुल्क भी एपीएल कार्ड धारकों के लिए लागू रहेगी। वहीं गर्भवती, बीपीएल और दीनदायल कार्ड धारकों के लिए उक्त सेवाएं पूर्णता निशुल्क रहेगी।

बताया जाता है कि शुल्क व्यवस्था दोबारा शुरू करने से जिला अस्पताल में आर्थिक समस्या का निदान हो सकेगा तथा कर्मचारियों के वेतन भुगतान भी हो सकेंगे। उल्लेखनीय है कि वर्तमान में जिला अस्पताल की ओपीडी, आइपीडी, ब्लड इंवेस्टिंगेशन समेत अन्य सेवाओं का पंजीयन, लेखन आदि कार्य रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा रोगी कल्याण से किए गए अनुबंध के तहत किया जाता है।


प्रतिदिन करीब 12 हजार की होती थी कमाई -


जानकारी के अनुसार सामान्य दिनों में जब कोरोना संक्रमण नहीं था और ओपीडी, आइपीडी समेत अन्य चिकित्सा सेवाओं के लिए शुल्क लिया जाता था। उस समय विभाग को प्रतिदिन करीब 12 हजार रुपए की आय होती थी। लेकिन शुल्क नहीं लिए जाने से करीब 28 लाख रुपए का नुकसान झेलना पड़ा।


इन सेवाओं के लगते है इतने शुल्क -


1. ओपीडी पंजीयन शुल्क - 10 रुपए
2. आइपीडी (भर्ती) शुल्क - 50 रुपए
3. आइसीसीयू में भर्ती शुल्क - 100 रुपए
4. ब्लड-यूरिन जांच शुल्क - 50-50 रुपए
5. एक्स-रे जांच शुल्क - 100 रुपए
6. ब्लड ट्रांसफ्यूजन शुल्क - 150 रुपए
7. निजी संस्थाओं में भर्ती मरीजों के प्लाजा टेस्ट के लिए - 1050 रुपए समेत अन्य शुल्क पूर्व की तरह लागू हो गए है।


शासन से मिले है आदेश -


जिला अस्पताल में पूर्व की तरह चिकित्सा सेवाओं के लिए शुल्क व्यवस्था लागू करने के लिए शासन से निर्देश मिले थे। इसके चलते उक्त व्यवस्था फिर से लागू की गई है।


- डॉ. सुशील दुबे, आरएमओ जिला अस्पताल

COVID-19
Show More
Dinesh Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned