अवैध कॉलोनाइजर पर होगी एफआइआर, भेजा प्रतिवेदन

अवैध कॉलोनियों के विरुद्ध एसडीएम मेघा शर्मा ने एक बार फिर पटवारियों से प्रतिवेदन लेकर पांच लोगों के विरुद्ध कार्रवाई करने का प्रतिवेदन कलेक्टर को भेजा है। इससे पहले 9 अवैध कॉलोनाइजरों के विरूद्ध प्रतिवेदन भेजा गया था जिन्हें बाद में नोटिस जारी हुए।

By: Sanjay Kumar Dandale

Published: 30 Jan 2021, 07:33 PM IST

छिंदवाड़ा/पांढुर्ना. शहर में तेजी से पैर पसार रही अवैध कॉलोनियों के विरुद्ध एसडीएम मेघा शर्मा ने एक बार फिर पटवारियों से प्रतिवेदन लेकर पांच लोगों के विरुद्ध कार्रवाई करने का प्रतिवेदन कलेक्टर को भेजा है। इससे पहले 9 अवैध कॉलोनाइजरों के विरूद्ध प्रतिवेदन भेजा गया था जिन्हें बाद में नोटिस जारी हुए।
मुख्यालय में एक कॉलोनाईजर पर नियम विरुद्ध अवैध रूप से प्लॉट बेचकर भोली भाले लोगों को गुमराह करने के जुर्म में एफआइआर दर्ज होने के बाद इस तरह की कार्रवाई जल्द पांढुर्ना में भी होने के बात कही जा रही है।
गौरतलब है कि प्रशासन अवैध कॉलोनियों बसने से रोकने के लिए सख्त हो गया है। इसी बात के फलस्वरूप जिला मुख्यालय में सख्त कार्रवाईयां हो रही है। एसडीएम द्वारा षहर में अवैध रूप से खेती के भूखंड को बेचने वालो के विरुद्ध प्रस्ताव तैयार कर कार्रवाई के लिए समय समय पर भेजे जा रहे है।
नपा नहीं करती हस्तक्षेप: अवैध रूप से प्लॉट बेचकर चांदी कमाने वाले मौज कर रहे है जबकि अवैध कॉलोनियों बसने के बाद इनमें विकास को लेकर नागरिक नगर पालिका के चक्कर काटते है।
भूखंड के विकास का शुल्क नगर पालिका में जमा करना पड़ता है। विकास शुल्क भरे बिना ही कॉलोनियां बसाई जा रही है इस ओर नगर पालिका ध्यान नहीं दे रही है। नगर पालिका का हस्तक्षेप नहीं होने से भी अवैध कॉलोनाईजरों के हौसले बुलंद है।
18 केस भेज चुके : एसडीएम
एसडीएम मेघा शर्मा ने बताया कि उनके कार्यालय से अब तक 18 केस बनाकर भेजे गए है जिनमें से कुछ लोगों को नोटिस जारी किए गए और इनके जवाब देने के लिए कलेक्टर कार्यालय तक जाना पड़ा। लोग आज वैध और अवैध कॉलोनियों को लेकर भ्रमित है। इसे लेकर एक्ट के प्रावधानों के तहत कार्रवाई करने की बात कही है।

Show More
Sanjay Kumar Dandale
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned