रुपयों से भरा बैग चोरी होने के पांच दिन बाद थाना पहुंचा

छिंदवाड़ा. रुपयों से भरा बैग चोरी होने के पांच दिन बाद पीडि़त देर रात रिपोर्ट दर्ज कराने थाना पहुंचा।

By: babanrao pathe

Published: 03 Mar 2019, 10:30 AM IST

छिंदवाड़ा. रुपयों से भरा बैग चोरी होने के पांच दिन बाद पीडि़त देर रात रिपोर्ट दर्ज कराने थाना पहुंचा। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ चोरी का अपराध दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। प्रार्थी अपने स्तर पर पतासाजी में जुटा था जिसके चलते देरी से रिपोर्ट दर्ज कराई। यात्री बस से एक लाख चालीस हजार छह सौ रुपए रखा हुआ बैग चोरी होना बताया जा रहा है। फिलहाल पुलिस के हाथ कोई सुराग नहीं लगा है।

 

माहुलझिर थाना में पदस्थ एएसआइ आरएस रघुवंशी ने बताया कि २५ फरवरी को थाना क्षेत्र के ग्राम खुनिया निवासी पोहप (५०) पिता दीपचंद राय होशंगाबाद जिले के पिपरिया बैंक से ५८ हजार रुपए निकाला एवं अनाज बेचे हुए रुपए बैग में रखकर यात्री बस से लौट रहा था। पोहप के अनुसार उसके बैग में एक लाख चालीस हजार छह रुपए थे। यात्री बस झिरपा स्टैंड पर रुकी तो सभी यात्री उतरे और पास में ही श्रीमद भागवत कथा का समापन कार्यक्रम चल रहा था वहां चले गए। बस में एक बुजुर्ग महिला बैठी थी जिसे बताकर रुपयों से भरा बैग छोडक़र वह भी प्रसाद लेने चला गया। लौटकर आया तो बस में बैग नहीं मिला। घर चला गया और बैग की तलाश स्वयं ने की, लेकिन नहीं मिलने पर १ मार्च की रात करीब ११ बजे थाना पहुंचकर चोरी होने की रिपोर्ट दर्ज कराई है। पोहप ने पुलिस को बताया कि उसे बेटी की शादी का कर्ज चुकाना है, लेकिन चोरी होने के कारण अब हाथ खाली है। अज्ञात के खिलाफ चोरी का प्रकरण दर्ज किया है।


बिना नंबर का ऑटो चोरी

छिंदवाड़ा. कुंडीपुरा थाना क्षेत्र के काबरा कॉलोनी शांतिनाथ स्कूल के पास रहने वाले प्रकाश पिता रोहणी प्रसाद उपाध्याय का बिना नंबर का ऑटो चोरी हो गया। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार लालबाग रेलवे क्रासिंग बिल्लु सरदार के टाल के पास से २३ जनवरी की रात को चोरी हो गया। पीडि़त ने ऑटो तलाश, लेकिन नहीं मिलने पर उसने एक मार्च को थाना पहुंचकर चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर वाहन और चोर की तलाश शुरू कर दी है।

 

Show More
babanrao pathe Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned