बेटियां बेचने वालों का पर्दाफाश, लाखों में करते थे सौदा

बेटियां बेचने वालों का पर्दाफाश, लाखों में करते थे सौदा
Four accused in police custody

Prabha Shankar Giri | Updated: 07 Jun 2019, 08:00:00 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

चार आरोपी पुलिस गिरफ्त में, सभी शातिर बदमाश

छिंदवाड़ा. मानव तस्करी से जुड़े एक बड़े गिरोह का गुरुवार को पुलिस ने पर्दाफाश किया। गिरोह के चार सदस्य अभी तक गिरफ्तार हो चुके हैं। एक नाबालिग लडक़ी को शहडोल बाल सुधार गृह एवं अशोकनगर निवासी ब्रजमान अहिरवार को जेल भेजा जा चुका है। चार आरोपित को पुलिस प्रेस कॉन्फ्रेंस में लेकर पहुंची। इसमें दो तस्करी गिरोह के सदस्य और दो अन्य नाबालिग को खरीदकर उनसे शादी करने वाले हैं। इस मामले के पांच नामजद आरोपितों की तलाश अभी जारी है।
कुंडीपुरा थाना क्षेत्र से लगातार नाबालिग के गायब होने की सूचना पर पुलिस हरकत में आई। वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर टीम का गठन कर छानबीन शुरू की गई। प्राथमिक तौर पर सामने आया कि गरीब परिवार की नाबालिग बेटियों को बहला फुसलाकर उनकी आस-पास के राज्य में जबरन शादी कराई जा रही है, जिससे गिरोह के सदस्यों को मोटी रकम मिल रही है। एसपी मनोज कुमार राय, एएसपी शशांक गर्ग के निर्देश पर सीएसपी दीशेष अग्रवाल के मार्गदर्शन में टीम ने सुराग जुटाए तो सामने आया कि छिंदवाड़ा के पातालेश्वर क्षेत्र में रहने वाला प्रशांत उर्फ चुटकी पाण्डे, विक्की यादव और इनकी सहयोगी नाबालिग लडक़ी मिलकर नाबालिग लड़कियों की खरीद फरोख्त का व्यापार कर रहे हैं। तीनों को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की तो उन्होंने तीन नाबालिग को बेचना स्वीकार किया। टीम ने सबसे पहले अशोकनगर निवासी ब्रजमान अहिरवार को हिरासत में लेकर उसके कब्जे से नाबालिग को मुक्त कराया। उसने पुलिस को बताया कि शादी के लिए नाबालिग खरीदी है।

शादी के लिए बेची थी नाबालिग
सबसे पहले अशोकनगर निवासी ब्रजमान को 80 हजार रुपए में पहली नाबालिग बेची, दूसरी राजगढ़ जिले में कृपाल सोंधिया को दो लाख रुपए में बेची और तीसरी नाबालिग को राजस्थान निवासी दिनेश नामक युवक को तीन लाख रुपए में बेची गई। प्रशांत उर्फ चुटकी पाण्डे, विक्की यादव, राजगढ़ निवासी दलाल जसवंत मांडाखेड़ और कृपाल सोंधिया निवासी पुरारूपाहेडा राजगढ़ को दोपहर बाद न्यायालय में पेश किया गया। नाबालिगों को दलालों के माध्यम से बेचा जा रहा था। फिलहाल राजस्थान निवासी दिनेश, दलाल बलवंत सोंधिया, गिरोह के सदस्य विवेक यादव, अंकित सोनगरा और शिवानी यादव की तलाश जारी है।

वारदात का तरीका
आरोपित प्रशांत उर्फ चुटकी पाण्डे, विक्की यादव, नाबालिग लडक़ी और दलाल जसवंत गिरोह के मुख्य सरगना हैं। आरोपित नाबालिग लडक़ी गरीब परिवार की बेटियों को अपना निशाना बनाती थी। बड़े ख्वाब दिखाकर अमीरों सी जिंदगी जीने का झांसा देती थी। महंगी होटलों में खाना खिलाना और महंगे कपड़े दिलाने के बाद गिरोह के सदस्य दलाल के माध्यम से शादी के लिए बेच देते थे। पकड़े गए ज्यादातर आरोपी शातिर बदमाश हैं और उन पर कई थानों में प्रकरण दर्ज है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned