जाम नदी में खूनी खेल आज, बरसेंगे पत्थर

वर्षोंं से चली आ रही परंपरा का होगा निर्वहन गोटमार मेले का आयोजन होगा। पुलिस प्रशासन हिंसा रोकने के लिए सख्त है।

By: sanjay daldale

Published: 22 Aug 2017, 12:44 AM IST

पांढुर्ना. जाम नदी के तट पर वर्षों से खेला जा रहा गोटमार मेले में आज फिर खूनी खेल खेला जाएगा। बरसों पुरानी इस परंपरा का आज भी उसी तरह से निर्वहन होगा । जाम नदी के एक तट सांवरगांव और दूसरी ओर पांढुर्ना पक्ष के लोग इकठ्ठा होकर एक दूसरे पर पत्थर बरसाएंगे। नदी के बीचोबीच सांवरगांव पक्ष वाले झंडा लगाएंगे और पांढुर्ना की ओर से इस झंडे को तोडऩे का प्रयास किया जाएगा। सांवरगांव पक्ष पत्थर मारकर इस झंडे को तोडऩे से रोकने पांढुर्ना पक्ष भी पत्थर मारकर अपना बचाव करेगा। इस खेल में हर साल सैकड़ों लोग घायल होते है। वहीं अब तक मेले में 15 लोगों की मौत हो चुकी है। सूर्याेदय से लेकर तो सूर्यास्त तक यह खेल खेला जाता है। गोटमार खेलने वाले लोग चंडी माता के भक्त है जो गणेश वार्ड में बने ऐतिहासिक मंदिर में पूजा पाठ कर आशीर्वाद प्राप्त करते है। इसके बाद गोटमार खेलने के लिए नदी तट पर पहुंचते है। वर्षों से चले आ रही इस पंरपरा का मंगलवार को भी निर्वहन होगा। रविवार को गोटमार के लिए खिलाडिय़ों ने डाले गए पत्थरों को सोमवार के दिन पुलिस ने उठवाया दिया है। हालांकि पत्थर मेला स्थल तक नहीं पहुंच पाए इसके लिए नाकाबंदी भी की गई है।


मोबाइल, कैमरों से रखी जाएगी नजर :-
गोटमार मेले में गोफन के उपयोग पर प्रतिबंध लगाया गया है। गोफन चलाने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करने की बात कही गई है। टीआई भूपेंद्र सिंह गुलबांके ने बताया कि मेले में गोफन चलाने वाले, अवैध शराब बेचने वाले के विरुद्ध मोबाइल कैमरे से नजर रखी जाएगी। पुलिस ने मेले के इर्दगिर्द सीसीटीवी कैमरे लगाए है। मेले में लगभग एक हजार पुलिसकर्मियों का बल तैनात रहेगा। इसमें नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा और सिवनी जिले के पुलिसकर्मी भी तैनात रहेेंगे। 8 डीएसपी के अलावा 20 टीआई को शांतिपूर्वक तरीके से मेला संपन्न कराने की जिम्मेदारी सौंपी गई हैं।


10 अस्थाई जेल बनाई गई:-
गोटमार के दौरान कानून तोडऩे वालों से निपटने के लिए पुलिस ने गंभीरता से कार्रवाई करने का मन बनाया है। पुलिस ने शहर में 10 स्थानों पर अस्थाई जेल बनाए है। सोमवार को एसडीएम डीएन सिंह, तहसीलदार ज्योति ठोके, एसआई एल गुप्ता व स्टाफ ने इन 10 ठिकानों का जायजा लिया। बताया जा रहा है कि हुडदंगियों को पकड़कर यहां बंद किया जाएगा जिससे मेला शांतिपूर्वक सम्पन्न हो सके।

Show More
sanjay daldale Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned