जूते-चप्पल और नर्मदा मिशन का रिकॉर्ड खंगालने की तैयारी में सरकार

जूते-चप्पल और नर्मदा मिशन का रिकॉर्ड खंगालने की तैयारी में सरकार
Government in preparing record

Prabha Shankar Giri | Updated: 20 Jan 2019, 11:40:02 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

वन विभाग से मांगी हितग्राहियों और स्थल की जानकारी : जल्द मैदानी परीक्षण के लिए आ सकता है दल

छिंदवाड़ा. शिवराज सरकार के समय तेंदुपत्ता संग्राहकों को दिए गए जूते-चप्पल, साड़ी और बॉटल तथा नर्मदा मिशन में लगाए गए पौधों के रिकॉर्ड जल्द खंगाले जा सकते हैं और उनका मैदानी परीक्षण भी किया जा सकता है। यह संकेत इसलिए मिल रहे हैं क्योंकि राज्य शासन ने ये दोनों जानकारी वन विभाग से मांगी है, जिसे एकत्र कर भोपाल भी पहुंचा दिया गया है। अब जल्द ही जांच दल छिंदवाड़ा आ सकता है।
विभागीय सूत्रों के मुताबिक पूर्व, पश्चिम और दक्षिण वनमंडलों के अधिकारी-कर्मचारी हाल ही में तेंदुपत्ता संग्राहकों के नाम-पते समेत वितरित जूते-चप्पल, साड़ी और बॉटल की सामग्री की जानकारी फड़ स्तर पर एकत्र करते देखे गए। उसके बाद उसे निर्धारित फार्मेट में भोपाल भी पहुंचाया गया। छिंदवाड़ा जिले में 31 हजार तेंदुपत्ता संग्राहकों को यह सामग्री वितरित की गई थी।
नाम, पते के साथ मोबाइल नंबर मांगे
कर्मचारियों के मुताबिक इस बार तेंदुपत्ता की जानकारी नाम, पते और मोबाइल नम्बर समेत मांगी गई है। इससे कहीं न कहीं सामग्री हितग्राहियों तक पहुंचने की जांच होने की संभावना व्यक्त की जा रही है। विधानसभा चुनाव के समय कांग्रेस ने जूते-चप्पल में हानिकारक रंगों से कैंसर होने की संभावना पर पूर्व शिवराज सरकार पर निशाना साधा था। सरक ार परिवर्तन के बाद जल्द ही जांच दल भी आ सकता है।

अफसरों के चेहरों से उड़ीं हवाइयां
ठी क यही स्थिति दो साल पहले जुलाई 2017 में लगाए गए नर्मदा मिशन के पौधे पर बन सकती है। इसकी जानकारी भी भोपाल बुलाई गई है। उस समय पूरे जिले में 16.67 लाख पौधे लगाने का दावा किया गया था। इस रिकॉर्ड को गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड में शामिल करने बुलाया गया था। इन पौधों का हश्र मैदानी स्तर पर देखा जा सकता है। चुनाव के समय कांग्रेस की ओर से भी यह मुद्दा गरमाया था। फिलहाल ये दो जानकारी मांगे जाने से कई विभागीय अधिकारी-कर्मचारियों के चेहरों पर हवाइयां उड़ रहीं हैं। जांच की दिशा सही चली तो दोषियों पर गाज गिरना तय है।

भेज दी है जानकारी
राज्य शासन से बुलाए जाने पर तेंदुपत्ता संग्राहकों और नर्मदा मिशन के तहत लगाए गए पौधों की जानकारी भोपाल भेजी गई है।
केके गुरवानी, सीसीएफ छिंदवाड़ा

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned