सरकार ने नहीं भेजी अंग्रेजी और उर्दू माध्यम की किताबें

सरकार ने नहीं भेजी अंग्रेजी और उर्दू माध्यम की किताबें
government books

Sanjay Kumar Dandale | Publish: Jun, 17 2019 06:00:00 PM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

नवीन शिक्षण सत्र को शुरू होने में दस दिन शेष बचे हुए है और अब तक शासन ने अंग्रेजी और उर्दू माध्यम की किताबें नहीं भेजी है।

छिंदवाड़ा/पांढुर्ना. नवीन शिक्षण सत्र को शुरू होने में दस दिन शेष बचे हुए है और अब तक शासन ने अंग्रेजी और उर्दू माध्यम की किताबें नहीं भेजी है। हिन्दी माध्यम की कक्षा पहली से लेकर आठवीं तक सभी विषयों की किताबें प्राप्त हुई है और इन्हें संकुलवार बांटने का काम भी शुरू हो चुका है।

इस शिक्षण सत्र के पहले ही दिन विद्यार्थियों को किताबें वितरित की जाएगी जिससे पढ़ाई में किसी प्रकार की समस्या नहीं रहेगी। हिन्दी माध्यम में कक्षा 3 री व कक्षा 6 वीं की गणित कि किताबें नहीं मिल पाई है। बीआरसी लहू सरोदे ने बताया कि जो किताबें नहीं मिली है पिछले साल की किताबों के जरिए उनकी कमी को पूरा करने का प्रयास करेंगे। लेकिन अंग्रेजी और उर्दू माध्यम की एक भी किताबें नहीं मिली है इससे विद्यार्थियों को पहले दिन से ही परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। जनशिक्षकों ने अपने अपने जनशिक्षा केन्द्रों में इन किताबों को पहुंचा दिया है।

अंग्रेजी में 258 और उर्दू के 128 विद्यार्थियों को नहीं मिलेंगी पुस्तकें
जनपद शिक्षा केन्द्र से प्राप्त जानकारी के अनुसार अंग्रेजी माध्यम की कक्षा पहली और दूसरी के 52 और कक्षा 6 वीं से 8 वीं तक के 206 कुल 258 विद्यार्थियों को इसी तरह उर्दू माध्यम की, कक्षा पहली से पांचवी के 62 तो कक्षा 6 वीं से 8 वीं तक के 66 विद्यार्थियों को कुल 128 विद्यार्थियों को पुस्तकें नहीं मिलेगी। शासन समय पर इन किताबों को भेज देता तो विद्यार्थी प्रवेश के पहले दिन से पढ़ाई शुरू कर लेते।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned