कचरा गाड़ी में डीजल खपत का पहरेदार है जीपीएस

कचरा गाड़ी में डीजल खपत का पहरेदार है जीपीएस

Rajendra Sharma | Publish: Feb, 15 2018 02:02:01 PM (IST) Chhindwara, Madhya Pradesh, India

डिजिटल मॉनिटरिंग... खराब होते ही रिपेयर कर दिए जाते हैं सिस्टम

- ४८ कचरा वाहनों में इस्तेमाल किया जा रहा है जीपीएस
छिंदवाड़ा. शहर में डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन करने ४८ वार्डों में ४८ ऑटो वाहन चल रहे हैं। इन वानों में जीपीएस सिस्टम लगा दिए गए हैं। जिसकी सहायता से पूरी निगरानी की जाती है। जीपीएस लगाने का मुख्य उद्देश्य शहर के हर हिस्से में कचरा वाहन को पहुंचाना एवं डीजल की खपत की निगरानी करना है। जीपीएस लगने के पहले ऑटो कहा पहुंच रहे हैं, कितना डीजल खपत हो रहा है। इस जानकारी की पुष्टि नहीं हो पाती थी। जीपीएस वाहन के चलने पर हर गली में पहुंचने का रिकॉर्ड रखता है और कितना किलोमीटर चला इसकी भी जानकारी फार्मूले के माध्यम से हो जाती है।
उल्लेखनीय है कि हर वाहन को पांच लीटर डीजल दिया जाता है। माना जाता है कि २० किमी प्रति लीटर का एवरेज देने वाला वाहन ८-१० का एवरेज तो देगा ही और शहर में ५० किमी घूमकर कचरा एकत्रित करके डम्पिंग साइट तक ले जाएगा। इसके बाद भी कई बार डीजल कम देने की शिकायतें बैठकों में आईं। जीपीएस के लगने के बाद किसी भी गाड़ी के बायो- लॉजिकल कार्डिनेट एवं डिस्टेंस में लैटिट्यूट एवं लांगी ट्यूड प्रणाली की सहायता से चल चुकी दूरी का भी पता लगा सकता है।

हो जाता है सत्यापन

टाउन हॉल में कर्मचारी रिंकू द्वारा ऑटो वाहनों के मीटर की रीडिंग नोट करके डीजल दिया जाता है। उसने बताया कि औसतन एक ऑटो ३५ से ५० किमी तक चलता ही है। रिंकू के रिकॉर्ड का वैरीफिकेशन निगम कार्यालय में जीपीएस की गणना को देख रहे पंकज यादव द्वारा की जा सकती है। इसकी सहायता से वाहन की तय की गई दूरी का मिलान हो सकता है।

हर हरकत पर रहती है नजर

जीपीएस के माध्यम से देखा जा सकता है कि गाड़ी कहां गईं, कहां रुकी और पॉथ वे बनाने के कारण गाड़ी का चेस किया जा सकता है। जहां गाड़ी खड़ी हो गई वहां तक की दूरी को फार्मूले की सहायता से निकाला जा सकता है। साफ मौसम में रीडिंग अच्छी मिल सकती है।
प्रवीण महाजन, इंजीनियर बीएसएनएल

४.४४ लाख टैक्स वसूली और दो नल कनेक्शन काटे

छिंदवाड़ा. नगर निगम द्वारा बुधवार को चार वार्ड ३, १५, २७ और ३९ में बकाया राजस्व वसूली के लिए शिविर लगाया गया। शिविर में बकाया संपत्ति कर ३.१७ लाख और जल कर १.२६ लाख रुपए जमा कराया गया। इसके साथ ही कर जमा नहीं करने वाले दो हितग्राहियों के नल कनेक्शन काट दिए गए। इसी क्रम में १५ फरवरी को वार्ड क्रमांक-४ कुकड़ा जगत स्कूल, वार्ड -१६ सिवनी प्राणमोती पंचायत भवन, वार्ड -२८ करबला चौक पुराना बैल बाजार और वार्ड क्रमांक- ४० बजरंग नगर सब्जी मंडी रोड में टैक्स वसूली शिविर लगाया जाएगा।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned