ग्रंथसाहिब का किया पाठ, बांटा लंगर

गुरु गोविंदसिंह जी की जयंती गुरुवार को गुरु सिंग सभा में श्री निशान साहब की सेवा के साथ मनाई गई।

By: arun garhewal

Published: 03 Jan 2020, 11:47 PM IST

छिंदवाड़ा. जुन्नारदेव. खालसा पंथ के संस्थापक एवं सिखों के दसवें गुरू और सदा दीन दुखियों की सहायता करने की सीख देने वाले और धर्म की रक्षा के लिए सर्वत्र बलिदान कर देने वाले गुरु गोविंदसिंह जी की जयंती गुरुवार को गुरु सिंग सभा में श्री निशान साहब की सेवा के साथ मनाई गई।
पाठ की समाप्ति पर ज्ञानी राजपाल सिंग राठौर ने की तथा गुरू का अटूट लंगर बांटा गया। इस अवसर पर विधायक सुनील उईके, भाजपा मंडल अध्यक्ष नवनीत जैन, ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष घनश्याम तिवारी, पूर्व मण्डल अध्यक्ष विष्णु शर्मा, अमरदीप राय, शरद कुरोलिया, विनोद जुनेजा, कैलाश चौरसिया, दीपेश जैन, निरंजन राय, दर्शन मिगलानी, बकुल रावल, रमेश सालोडे एवं सिख समुदाय से सरदार मंजीत सिंग, सुरेन्दर सिंग सरन, सरदार भरत अरोरा (बंटी), शतवीर सिंग सरन, सरदार आदित्य अरोरा, सरदार रितेश अरोरा, रिंकू पवार, तुषार जुनेजा, दीपक चौकसे, लक्की मिगलानी, पीयूष बत्रा के अतिरिक्त समुदाय के अन्य लोग भी उपस्थित थे।
बालाघाट में सिक्ख समुदाय द्वारा गुरू गोविन्दसिंह का ३५३ वां प्रकाश पर्व २ जनवरी को बड़े ही धूमधाम व हर्षोल्लास से गुरुद्वारा में मनाया गया। इस अवसर पर सुबह ८ बजे से गुरूद्वारा में कार्यक्रम प्रारंभ हो गया। सुबह ८ बजे अखंड पाठ साहिब की संपूर्णताई व सुबह ९ बजे दीवान की संपूर्णताई, विशेष दीवानताई ११ से दोपहर १.३० बजे की गई। जिसमें ११ से ११.४५ तक शबद कीर्तन व ११.४५ से १ बजे तक शबद कीर्तन जितेन्द्रसिंग हजुरी जत्था बालाघाट व हरमिंदरसिंग खालसा गोंदिया के द्वारा किया गया।
इस अवसर पर लंगर का भी आयोजन किया गया। जिसमें सिक्ख समुदाय के अलावा अन्य लोगों ने भी शामिल होकर लंगर किया।

arun garhewal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned