सबसे ज्यादा चर्चित कॉमेडियन कलाकार हप्पू सिंह आए छिंदवाड़ा

सबसे ज्यादा चर्चित कॉमेडियन कलाकार हप्पू सिंह आए छिंदवाड़ा

arun garhewal | Publish: Sep, 07 2018 05:09:52 PM (IST) Chhindwara, Madhya Pradesh, India

मशहूर कॉमेडियन व अभिनेता योगेश त्रिपाठी गुरुवार को अपने अल्प प्रवास पर अम्बाडा स्थित मां हिंगलाज मंदिर पहुंचे।

छिंदवाड़ा. गुढ़ी अम्बाड़ा. मशहूर हिंदी टेलीविजन सीरियल भाभी जी घर पर है में दरोगा हप्पू सिंह का किरदार निभाने वाले मशहूर कॉमेडियन व अभिनेता योगेश त्रिपाठी गुरुवार को अपने अल्प प्रवास पर अम्बाडा स्थित मां हिंगलाज मंदिर पहुंचे। यहां उन्होंने मां के दरबार में पूजा-अर्चना कर माथा टेका। उनके साथ आयुर्वेद गुरुजी डॉ. प्रकाश इंडियन टाटा उपस्थित थे। इसके बाद वे गुढ़ी बस स्टैण्ड स्थित इंग्लिश मीडियम नेक्स्ट जनरेशन पब्लिक स्कूल पहुंचे। वहां फूल-मालाओं से उनका स्वागत भी किया गया। इस मौके पर स्कूल के बच्चों सहित स्थानीय नागरिकों ने उनसे मुलाकात की। भारी भीड़ को देखते जुन्नारदेव एवं अम्बाडा पुलिस ने मौके पर पहुंचकर व्यवस्था सम्भाली।
टीवी सीरियल कलाकार हप्पू सिंह दरोगा (योगेश त्रिपाठी) नगर की ओम साईं इन्टरनेशनल पब्लिक स्कूल और सतपुड़ा कॉलेज में गुरुवार को सुबह नौ बजे आए। इस दौरान स्कूल और कॉलेज के बच्चों के साथ उन्होंने चर्चा की। वहीं स्कूल परिवार और जिला कांग्रेस के महामंत्री अनिल ठाकरे और बच्चों ने उनसे मुकाकात की। गौरतलब हो कि टीवी सीरियल के कलाकार योगेश तिवारी हप्पू सिंह दरोगा इस दौरान सिवनी, जबलपुर प्रवास के दौरान सौंसर में अल्प समय के लिए रुके थे। जहां इस दौरान वे स्कूल भी पहुंचे थे।
शिक्षक दिवस पर स्व. तुलसाई विद्या निकेतन स्कूल में शिक्षकों का शालेय बच्चों ने सम्मान किया। बच्चों ने सर्वप्रथम गुरू वंदना करते हुए शिक्षकों को तिलक लगाकर उपहार भेंट किए। इस अवसर पर संस्था संचालक पुरुषोत्तम वनकर, व्यवस्थापक सपना वनकर, शिक्षक तेजराव भोंगाडे, मिनल वनकर, प्राची ठाकरे, जयपाल गजभिए, प्रतिभा गजभिये, पुषलता कौशिक मौजूद रहे। संस्था व्यवस्थापक सपना वनकर एवं शिक्षकों के द्वारा शिक्षकों के सम्मान में मार्गदर्शन दिया।
शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला एवं फ्लावर वेेलस्कूल चांदामेटा के शिक्षकों का सम्मान समारोह आयोजित कि या गया। शाला के विद्याॢथयों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया और शिक्षकों का सम्मान किया। नगर परिषद अध्यक्ष हरीश चंद्र अग्रवाल ने डॉ. राधाकृष्णन के जीवन वृत्त पर व्याख्यान देते हुए माता को प्रथम गुरु एवं शिक्षक को द्वितीय गुरु बताया। उन्होंने बच्चों को माटी रूपेण निराकार बताया जिस प्रकार माटी को जिस रूप में ढाल दिया जाता है। वह उस रूप में ढल जाती है। ठीक इसी प्रकार बच्चों को भी जिस प्रकार का ज्ञान एवं संस्कार दिया जाएगा वह उसे आचरण में लाएंगे।

Ad Block is Banned