गायनिक विभाग के समक्ष श्वान नोंच रहे थे मानव अंग, जानें स्थिति

- इधर-उधर बिखरे पड़े थे मांस के टुकड़ें

By: Dinesh Sahu

Updated: 18 Feb 2020, 03:07 PM IST

छिंदवाड़ा/ छिंदवाड़ा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस से सम्बद्ध जिला अस्पताल में बायोमेडिकल वेस्ट प्रबंधन में लापरवाही बरती जा रही है, जिसकी वजह से क्षेत्र में संक्रमण फैलने का भय बना हुआ है। नवीन बिल्डिंग में संचालित गायनिक विभाग में प्रवेश करने वाला मुख्य द्वार के पास स्थित पुराना रसोई-घर है, जिसके पीछे खाली पड़ी जमीन पर इधर-उधर मानव शरीर के बड़े-बड़े मांस के टुकड़े पड़े हुए है।

कई लोग उन्हें देखने भी पहुंचे तथा अपूर्ण भू्रण होने की आशंका जताई, जिसे लापरवाही से फैंक दिया गया है।वहीं परिसर में इधर-उधर बिखरे पड़े हुए मानवीय अंग या भ्रूण को आवारा श्वान नोंच-नोंच कर खाते देखे गए। बताया जाता है कि इसकी वजह से परिसर में घूम रहे श्वान आक्रामक हो गए है तथा आते-जाते लोगों पर हमला करने का प्रयास भी करते है।

मरीजों के लिए बनता है भोजन -

नवीन बिल्डिंग के बेसमेंट में रोगी कल्याण समिति द्वारा संचालित रसोई-घर स्थिति है, जहां अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों के लिए भोजन तैयार किया जाता है। इसी कक्ष के बाजू में उक्त मानव अंग इधर-उधर बिखरे पड़े थे तथा गायनिक विभाग के ही पुराने वार्ड के पीछे फैली गंदगी व्यवस्था पर कई सवाल उठा रही है।

लाखों रुपए किए जाते है खर्च -


जिला अस्पताल से निकलने वाला बायोमेडिकल वेस्ट का उचित प्रबंधन तथा परिवहन किए जाने विभाग लाखों रुपए खर्च करता है। कायाकल्प योजना के तहत प्रबंधन द्वारा खराब मानव अंगों को एकत्रित करने के लिए एक कक्ष भी बनाया है, जिसके बावजूद खुले में उक्त मांस के टुकड़े मिलना लापरवाही को दर्शाता है।

मामले की जांच कराएंगे -


खुले में मानव अंगों को फैंकना अनुचित है, जिसकी जांच कराई जाएगी तथा दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी की जाएगी।

- डॉ. पी. कौर गोगिया, सिविल सर्जन

Dinesh Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned