स्वास्थ्य मंत्री ने छिंदवाड़ा में अधिकारियों को दी हिदायत...कही यह बात, पढ़ें पूरी खबर

- स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दिए आवश्यक निर्देश

By: Dinesh Sahu

Published: 26 Nov 2020, 11:59 AM IST

छिंदवाड़ा/ मप्र शासन लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभराम चौधरी मंगलवार को छिंदवाड़ा प्रवास पर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर कोरोना वायरस से सुरक्षा के लिए हर सम्भव प्रयास करने के निर्देश दिए। हालांकि डॉ. चौधरी ने कहा कि छिंदवाड़ा में कोरोना नियंत्रण पर है, पर सतर्क रहना भी बहुत जरूरी है।

- कहा वायरस से सुरक्षा के लिए किए जाएं आवश्यक प्रयास

बैठक में पूर्व मंत्री रामपाल सिंह, विवेक साहू समेत अन्य जनप्रतिनिधि मौजूद थे। बैठक में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने कोरोना संक्रमण की वर्तमान स्थिति, मरीजों की संख्या, उपचार, कॉन्टेक्ट टे्रसिंग, संक्रमण रोकने के लिए किए जा रहे प्रयास आदि की समीक्षा की तथा कहा कि महाराष्ट्र राज्य की सीमा से लगा जिला होने से संक्रमण छिंदवाड़ा संवेदनशील है।

मॉस्क पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन, बेहतर सुविधाएं, उपचार से शासकीय संस्थाओं में लोगों का विश्वास बढ़ाने की बात कही। डॉ. चौधरी ने कहा कि लोगों के मन में क्वॉरंटीन होने का डर बैठ गया है, जिसकी वजह से वे सामान्य रोगों के उपचार के लिए भी अस्पताल नहीं पहुंचते है। इस डर को खत्म करना होगा।


वर्किंग कंडीशन में हो सभी उपकरण -


मंत्री डॉ. चौधरी ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग में उपलब्ध वेंटिलेटर, ऑक्सीजन बेड वर्किंग तथा अन्य उपकरण वर्किंग कंडीशन में होने चाहिए। फीवर क्लीनिकों का नियमित संचालन, राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रमों की प्रगति, सम्पूर्ण टीकाकरण, मातृ-शिशु स्वास्थ्य, टीबी उन्मुलन पर ध्यान देना व जनप्रतिनिधियों के साथ समय-समय पर बैठक होनी चाहिए। डॉ. चौधरी ने कहा कि राज्य शासन के आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के रोड मैप में स्वास्थ्य एक महत्वपूर्ण विषय है।


जिला पंचायत सीइओ ने गिनाए आंकड़े -


जिपं सीइओ गजेंद्र सिंह नागेश ने बैठक में बताया कि कोरोना संक्रमण की जांच के लिए अब तक 50 हजार 828 सैम्पल जांच के लिए भेजे गए, जिनमें से अब तक 2051 पॉजिटिव तथा 1918 स्वस्थ दर्ज किए गए है। जिले की पॉजिटिविटी दर 4.03 और रिकवरी दर 93.51 प्रतिशत है। जिलास्तरीय इंटीग्रेटेड कंट्रोल रूम बनाए गए व हेल्पलाइन नम्बर जारी किए गए है। जिले में कुल 798 कंटेनमेंट एरिया बनाए गए, जिनमें से 42 एक्टिव है। वहीं 1021 आइसोलेशन बेड उपलब्ध है, जिनमें 289 ऑक्सीजन सपोर्ट के साथ 68 बेड आइसीयू/एचडीयू सपोर्ट के साथ है।


यह रहे मौजूद -


प्रभारी कलेक्टर रानी बाटड, पुलिस अधीक्षक विवेक अग्रवाल, एसडीएम, डिप्टी कलेक्टर, मेडिकल कॉलेज डीन, सीएमएचओ, सिविल सर्जन, जिला स्तरीय इंटीग्रेटेड कोविड कंट्रोल रूम के नोडल अधिकारी समेत अन्य शामिल है।

BJP COVID-19
Show More
Dinesh Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned