health: प्रदेश में सबसे बड़ी होगी यह इमारत...भूकम्प भी नहीं हिला सकेगा, जानें खूबियां

- अभिव्यक्त स्थल अनुमोदन समिति की बैठक में हुई विभिन्न चर्चा

By: Dinesh Sahu

Updated: 03 Jan 2020, 12:12 PM IST

छिंदवाड़ा/ छिंदवाड़ा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस की हॉस्पिटल बिल्डिंग ऊंचाई करीब 45 मीटर होगी, जिसकी संरचना भूकम्प अवरोधी होगी तथा पर्याप्त पार्र्किंग व्यवस्था, अग्निशामन सम्बंधी व्यवस्थाओं सहित अन्य की उपलब्ण्धता रहेगी। निर्माण एजेंसी को ऊंचे भवनों के लिए नेशनल बिल्डिंग कोर्ट विहित प्रावधानों के तहत विस्तृत भवन मानचित्र का परीक्षण कराना होगा, जिसके बाद ही नगर तथा ग्राम निवेश की अनुमति मिल सकेगी।

इस सम्बंध में गुरुवार को नगर निगम आयुक्त इच्छित गढ़पाले की अध्यक्षता में समिति की बैठक मेडिकल कॉलेज सभा कक्ष में आयोजित की गई, जिसमें विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की गई। सिम्स हॉस्पिटल का निर्माण 59.92 एकड़ अर्थात 2610547.44 वर्गफिट क्षेत्रफल के सम्बंध में भूमि विकास नियम, 2012 के नियम-42 (2) के अनुसार अनुमोदन समिति की बैठक आहुत की गई थी।

बैठक में समिति अध्यक्ष निगमायुक्त गढ़पाले, कलेक्टर प्रतिनिधि, पुलिस अधीक्षक प्रतिनिधि, अधीक्षण यंत्र लोक निर्माण विभाग (भवन तथा सडक़), संभागीय अभियंता विद्युत वितरण कम्पनी, अग्निशमन अधिकारी तथा समिति सचिव उप संचालक, नगर एवं ग्राम निवेश प्रमुख रूप से मौजूद थे।

कर्मचारियों की व्यवस्था बनाना अनिवार्य -

सिम्स हॉस्पिटल का निर्माण कर रही एजेंसी को उनके अधीनस्थ कार्य करने वाले कर्मचारियों के निवास, शौचालय, चिकित्सा आदि की व्यवस्था शासन की गाइडलाइन के तहत सुनिश्चित कराने के निर्देश निगमायुक्त गढ़पाले ने दिए है। आयुक्त गढ़पाले ने बताया कि उक्त मामले में शिकायत मिलने पर एजेंसी के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई भी की जाएगी।

इन बिंदुओं पर हुई चर्चा -

1. प्रस्ताविक भवन के स्ट्रक्चर डिजाइन में विंड लोड तथा शेडों के लिए अन्य भवनों से आवश्यक दूरी का प्रावधान रखा जाएं।

2. परियोजना अंतर्गत आवेदक संस्था द्वारा 33/11 के.व्ही. उपकेंद्र स्थापित करना होगा।

3. भवन की स्ट्रक्चर डिजाइन का परीक्षण अधीक्षण यंत्री, लोक निर्माण विभाग द्वारा कराया जाना अनिवार्य होगा आदि बिंदू शामिल है।

Show More
Dinesh Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned