हरियाली के मौसम में सेहतमंद हवा..ये हैं कारण

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की रिपोर्ट छिंदवाड़ा की आबोहवा प्रदेश में सबसे बेहतर

By: manohar soni

Published: 27 Jun 2021, 10:52 AM IST

छिंदवाड़ा. अनलॉक के 26 दिन होने पर आम जिंदगी धीरे-धीरे पटरी आ गई है। बारिश भरे हरियाली के मौसम में सेहतमंद हवा भी चल रही है। इससे लोग चैन की सांसें ले रहे हैं। इसी वजह से प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की प्रदेश स्तरीय रिपोर्ट में इस समय छिंदवाड़ा को सबसे गुड श्रेणी का शहर बताया गया है।
कोरोना संक्रमण में बेहद दर्दनाक दो माह अप्रैल-मई के बाद जून हर किसी के लिए राहत लेकर आया है। कोरोना मेें परिजन,धन-संपदा खोने के बाद समाज में सतर्कता और जागरुकता का भाव जगा है इसलिए लोग सड़क पर दुपहिया वाहन लेकर कम नजर आ रहे हैं। मालवाहक वाहन के साथ बसों एवं अन्य व्हीकल के भी सीमित संख्या में होने से अपेक्षाकृत न शोर है और न ही उनका धुआं और धूल नजर आ रहा है। बारिश के पानी भी इस प्रदूषण को नियंत्रित कर रहा है। इसके चलते आम आदमी चैन से सेहतमंद हवा ले रहा है। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने भी स्वीकारा कि कोरोना वायरस के लॉकडाउन से प्रदूषण का स्तर गिर गया है और एयर क्वालिटी इंडेक्स भी गुड श्रेणी में आ गया है।
....
50 के अंदर आया एक्यूआई, गुड श्रेणी में शहर
बोर्ड के मुताबिक एयर क्वालिटी इंडेक्स 50 के अंदर होता है तो उसे गुड तथा 51 से 100 के बीच की स्थिति को संतोषजनक माना जाता है। बोर्ड की रिपोर्ट के अनुसार छिंदवाड़ा का एयर क्वालिटी इंडेक्स 32.3 है। इनमें पीएम 10 में 39.2 तथा पीएम 2.5 में 16.2 था। यह इंडेक्स इतना कम इसलिए भी है कि अप्रैल-मई में लगातार लॉकडाउन से दोपहिया-चौपहिया वाहन चलने बंद हो गए। इससे सड़क़ पर धुएं और धूल से उत्पन्न प्रदूषण का स्तर गिर गया। औद्योगिक इकाइयों में भी उत्पादन बंद होने का भी असर पड़ा। जून में स्थितियों में सुधार हुआ है। फिर भी वायु की गुणवत्ता बनी हुई है।
...
धूल और धुएं से तकलीफ के कम आए मरीज
पहले लोग धूल और धुएं से दम और सांसों में तकलीफ की शिकायत करते थे। उन्हें आराम मिला है। चिकित्सक मानते हैं कि इसका बड़ा कारण कोरोना पर पूरा ध्यान लगा रहा। कोरोना में सांसों की तकलीफ की समस्या आई लेकिन इसका कारण वायु प्रदूषण नहीं रहा।
...
दो माह कफ्र्यू में व्यावसायिक और औद्योगिक गतिविधियां ठप रही तो वाहन भी सड़कों पर नहीं चले। जून में अनलॉक होने पर जनजीवन सामान्य हुआ है। फिर भी सतर्कता बरतने की वजह से ही छिंदवाड़ा में वायु प्रदूषण कम दर्ज हुआ है।
-डॉ.अविनाश चंद्र करेरा, क्षेत्रीय अधिकारी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड।
...
एयर क्वालिटी इंडेक्स डाटा में छिंदवाड़ा
सिटी एक्यूआई
मंडीदीप 114.8
ग्वालियर 108.8
सतना 90.5
भोपाल 87.9
कटनी 87.6
रीवा 81.6
उज्जैन 80.1
शहडोल 71.5
सिंगरौली 69.9
देवास 66.0
इंदौर 65.5
जबलपुर 65.5
पीथमपुर 63.6
सागर 60.6
नागदा 45.9
छिंदवाड़ा 32.3
...

manohar soni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned