यहां शिक्षकों की अनुपस्थिति में बच्चे करते हैं प्रार्थना

सोमवार को सुबह प्रार्थना के समय एक भी शिक्षक. शिक्षिकाएं मौजूद नहीं थे। स्कूल में पदस्थ बालक प्राथमिक शाला के प्रधान पाठिका रश्मि सराठे, शिक्षिका पुष्पलता भारती, कन्या प्राथमिक शाला की प्रधान पाठिका शारदा ठाकुर प्रार्थना समय पर स्कूल नहीं पहुंची थी। स्कू

By: Sanjay Kumar Dandale

Published: 03 Dec 2019, 06:27 PM IST

Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

छिंदवाड़ा/तामिया/शिक्षकों ने 14 नवंबर को देश के प्रथम प्रधानमंत्री स्व. जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिन के अवसर पर शिक्षकों ने कर्तव्यनिष्ठा की शपथ ली थी कि मैं प्रतिदिन नियमित एवं निर्धारित समय पर शाला आउंगी और पूरी तन्मयता नियत से अध्यापन कार्य करुंगी लेकिन कुछ शिक्षक सत्यनिष्ठा से ली गई शपथ को भूल गए हैं।
तामिया जनपद शिक्षा केंद्र बीआरसी कार्यालय से सौ मीटर पर दूर पर स्थित शासकीय बालक प्राथमिक शाला और कन्या प्राथमिक शाला का हाल बेहाल है। चार शिक्षक नियुक्त हैं लेकिन सोमवार को सुबह प्रार्थना के समय एक भी शिक्षक. शिक्षिकाएं मौजूद नहीं थे। स्कूल में पदस्थ बालक प्राथमिक शाला के प्रधान पाठिका रश्मि सराठे, शिक्षिका पुष्पलता भारती, कन्या प्राथमिक शाला की प्रधान पाठिका शारदा ठाकुर प्रार्थना समय पर स्कूल नहीं पहुंची थी। स्कूल के बच्चे शिक्षकों की अनुपस्थिति में प्रार्थना करते हैं। इसी प्रकार अन्य कुछ स्कूलों का भी हाल यही है। शिक्षक शिक्षिकाएं मुख्यालय छोडक़र जिला से अप डाउन करते हैं जिसके कारण समय पर स्कूल नहीं पहुंचते हैं और समय से पहले ही स्कूल से रवाना हो जाते हैं। तामिया जनपद शिक्षा केंद्र के अधीनस्थ 284 प्राथमिक शाला और 89 माध्यमिक शाला संचालित है। बीआरसी जितेंद्र सिंह छोकर ढाई साल से बीआरसी का कार्य संभाले हुए हैं लेकिन बीआरसी कार्यालय से 100 मीटर दूरी पर स्थित शालाओं के शिक्षकों पर कार्रवाई नहीं करने से शिक्षक समय पर स्कूल नहीं
आते हैं जब मुख्यालय की ये हाल है तो दूरस्थ शालाओं की स्थिति कैसी होगी इस अंदाजा लगाया जा सकता है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned