यहां खून के लिए मची लूटपाट, प्रशासन भी बना रहा मूकदर्शक

dinesh sahu

Publish: Dec, 07 2017 11:48:59 (IST)

Chhindwara, Madhya Pradesh, India
यहां खून के लिए मची लूटपाट, प्रशासन भी बना रहा मूकदर्शक

बेखौफ निजी संस्थान, बिना अनुमति लगा लिया रक्तदान शिविर

छिंदवाड़ा . जिला अस्पताल में नागपुर की निजी संस्थाओं की मनमानी चल रही है। प्रशासन और स्वास्थ्य अधिकारियों की उदासीनता की वजह से जिले में अन्य प्रदेश के निजी ब्लड बैंक बेखौफ शिविर लगाकर रक्त संग्रह कर रहे हैं। बुधवार को ऐसे ही मामले को लेकर जिला अस्पताल में जमकर हंगामा मचा। दरअसल जिला अस्पताल में बिना अनुमति के नागपुर की लाइफलाइन संस्था ने रक्तदान शिविर लगाया था।

 

इस बात की भनक जैसे ही स्वास्थ्य कर्मचारियों को लगी तो उन्होंने शिविर की अनुमति की जानकारी मांगी तथा उच्च अधिकारियों को इसकी सूचना दी। तब तक लाइफलाइन ने पांच यूनिट रक्त संग्रह कर लिया था। लाइफ लाइन टीम एक एम्बुलेंस लेकर आई थी। इसमें एक बार में पांच व्यक्ति रक्तदान कर सकते थे।

 


गौरतलब है कि जिले में बिना स्वास्थ्य अधिकारी की अनुमति के रक्तदान शिविर नहीं लगाया जा सकता है। इसके बाद भी सौंसर पांढुर्ना सहित अन्य ब्लॉकों में निजी संस्थाओं द्वारा बेखौफ शिविर लगाए जाते हैं।


नहीं दी अनुमति


जिला अस्पताल के साथ किसी भी शासकीय संस्था में बिना अनुमति के रक्तदान शिविर नहीं लगाया जा सकता है। जानकारी मिलने पर जिला अस्पताल में लगे शिविर को बंद कराया गया।


जेएस गोगिया, सीएमएचओ

 

जिला अस्पताल में अक्सर होता है विवाद


जिला अस्पताल में आए दिन रक्त उपलब्धता को लेकर विवाद होते रहता है। रक्तदाता न मिलने पर कई बार मरीजों को बिना एक्सचेंज किए रक्त देना पड़ता है। कई मामले में तो दलाल मरीजों को गुमराह कर हजारों रुपए वसूल लेते हैं। जबकि जिला अस्पताल में ही प्रतिदिन 40 से 50 यूनिट ब्लड की जरूरत पड़ती है।

स्वास्थ्य कर्मचारी संघ ने जताई आपत्ति


मप्र स्वास्थ्य कर्मचारी संघ छिंदवाड़ा ने इस लापरवाही पर आक्रोश जताया है। जिला अध्यक्ष धीरज सारवान ने बताया कि नागपुर की निजी संस्था लाइफ लाइन ने जबरन परिसर में शिविर लगाया। इसकी जानकारी सीएमएचओ को दी गई। इसके बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई।

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned