यहां कांग्रेस सरपंच के विरुद्ध लामबंद, जानें क्या है मामला

ज्ञापन सौंप एफआइआर दर्ज करने की मांग

By: Rajendra Sharma

Published: 12 May 2020, 10:55 PM IST

परासिया/ ब्लॉक कांग्रेस कमेटी ने अनुविभागीय राजस्व अधिकारी को शिकायत करते हुए कहा है कि कोराना वायरस के चलते सम्पूर्ण देश में लॉकडाउन लागू है। केंद्र सरकार के गृह मंत्रालय आदेश पर सामूहिक आयोजन पर पूरी तरह से रोक लगाई गई है। इसके बाद भी कुछ लोग नियम तोड़ रहे हैं।
जानकारी के अनुसार जनपद पंचायत परासिया की अधिकांश पंचायतों में मनरेगा सहित अन्य कार्यों को किया जा रहा, ताकि ग्रामीणों को काम मिल सके एवं उन्हें बाहर जाना नहीं पड़े। नौ मई को ग्राम पंचायत भाजीपानी सरपंच मनीष यादव ने मनरेगा सहित अन्य कार्यों के भूमिपूजन का कार्यक्रम किया गया जिसमें अन्य लोग भी उपस्थित हुए थे जो शासन के निर्देशों का खुला उल्लंघन है। इसलिए लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर मामला दर्ज किया जाए। ऐसा नहीं होने पर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी आंदोलन करेगी। इस अवसर पर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष हेमंत राय, नगर कांग्रेस अध्यक्ष आशीष सिंकदरपुरे, कार्यकारी अध्यक्ष वीर बहादुर सिंह, वरिष्ठ कांग्रेसी गुड्डू चौरसिया, पार्षद दीपक राय उपस्थित रहे।

रेत का अवैध परिवहन करने वालों का कटा जेल वारंट

परासिया . अवैध रेत उत्खनन कर परिवहन करने वाले आरोपी सुंदर पिता फूलाराम कवरेती (18), असरफ (38) पिता शेख इकबाल दोनों निवासी मैनाबाड़ी की जमानत को खारिज करते हुए न्यायालय ने उन्हें जेल भेज दिया।
सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी मोहित नामदेव ने बताया कि रविवार को न्यूटन पुलिस ने ग्राम बरारिया में एक लाल रंग का ट्रैक्टर ट्रॉली एमपी 28 बीडी 2641 को पकड़ा था। दो व्यक्ति नदी से रेत चुराकर ट्रॉली में भरकर बेचने के लिए जा रहे थे। आरोपियों के पास कोई वैध दस्तावेज नहीं होने पर उन्हें गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

टंकी से कूदने की धमकी देने वाला गया जेल

परासिया नगर पालिका का बर्खास्त कर्मचारी कलीराम यादव रविवार दोपहर साईं मंदिर के सामने स्थित ओवरहेड पानी टंकी के ऊपर चढ़ गया और वहां से कूदने की धमकी देने लगा। कलीराम नगर पालिका में नौकरी तथा लॉकडाउन अवधि के दो माह का वेतन दिए जाने की मांग कर रहा था।
सूचना मिलने पर थाना प्रभारी एवं सीएमओ नपा मौके पर पहुंचे और किसी तरह समझाइश देकर कलीराम को टंकी से नीचे उतारा गया। कलीराम के विरुद्ध धारा 506, 294, 323 तथा 188 के तहत प्रकरण दर्ज कर कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। कलीराम इसके पहले भी कई बार इस तरह का ड्रामा कर चुका है।

Show More
Rajendra Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned