चार वर्ष से आवंटन का इंतजार कर रही हाट बाजार की दुकानें

मुख्यमंत्री हाट बाजार योजना के अंतर्गत लगभग 45 लाख रुपए की लागत से 8 दुकानें, 50 टीन शेड, चबूतरा समेत फर्जीशकरण का कार्य किया गया।

By: SACHIN NARNAWRE

Published: 16 May 2018, 04:51 PM IST

मुख्यमंत्री हाट बाजार योजना के तहत हुआ है निर्माण
चार वर्ष से आवंटन का इंतजार कर रही हाट बाजार की दुकानें

गुड़ी. अंम्बाडा. सरकार द्वारा ग्रामीणों की सुविधा के लिए अधिकतर योजनाएं तो लागू कर देती है, लेकिन मॉनीटरिंग के अभाव में यह योजनाएं दम तोड़ती नजर आती हैं, क्योंकि जिम्मेदार सरकार के नुमाइंदों की लापरवाही का भुगतान ग्रामीणों को भुगतना पड़ता है। इन योजनाओं का फायदा ग्रामीणों को नहीं मिलने की वजह से शासन का लाखों रुपए पानी में व्यर्थ जाता नजर आ रहा है !
इसी क्रम में ग्राम पंचायत पाला चौरई के गुड़ी बस स्टैण्ड के पास मुख्यमंत्री हाट बाजार योजना के अंतर्गत लगभग 45 लाख रुपए की लागत से 8 दुकानें, 50 टीन शेड, चबूतरा समेत फर्जीशकरण का कार्य किया गया। इस कार्य को ठेकेदारी के माध्यम से कराया गया था। ठेकेदार ने काम पूरा करने के बाद पंचायत को हैंड ओवर कर दिया गया, लेकिन उसके बावजूद विगत 4 वर्ष बीत जाने के बाद भी यह दुकानें बंद हैं और आवंटन की राह तक रही हैं। अगर यही दुकानें समय पर नीलाम कर दी जाती तो, शासन को आवक भी होती और क्षेत्र के कुछ ग्रामीणों को रोजगार भी मिलता, लेकिन ग्राम पंचायत व जनपद पंचायत के चक्कर में दुकानों की नीलामी नहीं हो पा रही है। मामले में ग्राम पंचायत पालाचौरई सरपंच गिरिजा उइके का कहना है कि दुकानें पंचायत को हैंडओवर की जा चुकी है, लेकिन जनपद पंचायत से कोई अधिकारी आएगा तब ही इन दुकानों की नीलामी की जाएगी।
दुकानों की नीलामी के लिए लगभग डेढ़ वर्ष से प्रक्रिया चल रही है। इस अवधि में जनपद पंचायत सीईओ को तीन बार आवेदन किया जा चुका है, लेकिन इन दुकानों की नीलामी के लिए अभी तक कोई अधिकारी नहीं आया।
&जनपद का कोई अधिकारी नियुक्त करके गाइड लाइन पता करके दुकान की नीलामी करवाई जाएगी, लेकिन जनपद पंचायत व ग्राम पंचायत की लापरवाही की वजह से ये दुकानें चार वर्ष से बेकार पड़ी है। शासन द्वारा 45 लाख की लागत से हाट बाजार योजना के तहत दुकानें व शेड तैयार करवाया है।
सीएल अहिरवार, नपद पंचायत सीईओ

SACHIN NARNAWRE
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned