कहीं मेंढक नहला रहे तो कहीं भगवान को भज रहे लोग

Chandra Shekhar Sakarwar

Updated: 21 Jul 2019, 01:02:59 PM (IST)

Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India


छिंदवाड़ा. इस बार इंद्रदेवता सचमुच रूठे दिख रहे हंै। मौसम बनता है घने बादल भी छा रहे हैं गरज चमक के साथ आते भी है, लेकिन जैसे बरसने चाहिए वैसे बरसते नहीं। इस बार मानसून की अनिश्चितता ने लोगों को चिंता में डाल दिया है। लोग पूजा-अर्चना के साथ अब कई तरह के जतन कर रहे हैं। शहर में कहीं बच्चों की टोलियों को लेकर मेढक़ को नहलवाने घर-घर जा रहे हैं तो कहीं भगवान का भजन-अर्चन किया जा रहा है। शहर सहित गांवों में अखंड रामायण, राम नाम का जाप, पूजा अभिषेक, हवन, आल्हा गायन किया जा रहा है तो स्कूलों तक में इंद्रदेवता को मनाने विद्यार्थी विशेष प्रार्थना कर रहे हैं। शहर से लेकर गांवों में अपने-अपने स्तर पर ये आयोजन किए जा रहे हैं। शनिवार को शहर में बच्चों की टोली नीम की डगाल पर मेंढक को बिठाकर घर-घर घूमी। यहां घर के पानी से उसे स्नान करवाया जा रहा है। माना जाता है कि इससे बारिश होती है। गौरतलब है नई आबादी स्थित सिद्धेश्वर शिव मंदिर में १२ शिवलिंगों को जलमग्न किया गया है। चारों तरफ से दीवार बनाई गई है और श्रद्धालु वहां जल चढ़ा रहे हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned