बिजली गुल हुई तो यह हुई फजीहत,आनन-फानन में यह इंतजाम

manohar soni

Publish: Oct, 13 2017 12:09:33 PM (IST)

Chhindwara, Madhya Pradesh, India
बिजली गुल हुई तो यह हुई फजीहत,आनन-फानन में यह इंतजाम

एेन वक्त पर बिजली गुल होने से पंचायतों की टीवी नहीं चल सकी।

 

छिंदवाड़ा. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के उद्बोधन के टीवी प्रसारण के दौरान बिजली विभाग गंभीर नजर नहीं आया। एेन वक्त पर बिजली गुल होने से पंचायतों की टीवी नहीं चल सकी। पंचायत पदाधिकारियों को रेडियो और मोबाइल पर भाषण सुनाना पड़ा। जनपद पंचायत सीईओ ने इसका निरीक्षण किया तो बिजली की यह अव्यवस्थाएं अधिकांश स्थलों में दिखाई दी।

गुरुवार को किसानों की उपज खरीदी के लिए शुरू की गई भावान्तर योजना का प्रचार-प्रसार के लिए मुख्यमंत्री के भाषण का प्रसारण प्रात:११ बजे से रखा गया था। इसके लिए किसानों को भी पंचायतों में बुलाकर रखा गया था। छिंदवाड़ा विकासखण्ड की ग्राम पंचायत उमरिया ईसरा,खुटिया, थुनिया उदना समेत अन्य स्थलों में जैसे ही भाषण का प्रसारण शुरू हुआ, बिजली गुल होने से अंधेरा छा गया। इसके चलते यहां रेडियो और मोबाइल से भाषण सुनाना पड़ा तो कहीं बिना सुने ही रहना पड़ा। पंचायत से जुड़े पदाधिकारियों का कहना है कि जब भी सीएम का भाषण होता है, बिजली विभाग के अधिकारी नियमित बिजली सप्लाई नहीं कर पाते। हमेशा परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस बार भी कटौती का सामना करना पड़ा।
............
यह कहा मुख्यमंत्री ने
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सरकार ने किसानों के लिए महाबोनस की व्यवस्था भावांतर भुगतान योजना द्वारा की है। इसका लाभ लेने के लिए पंजीयन करवाना अनिवार्य है। किसान भाई पंजीयन करवाने में चूके नहीं, अन्यथा योजना का लाभ नहीं मिल पाएगा। उन्होंने किसानों से भावांतर भुगतान योजना, उसकी प्रक्रियाओं और प्रभावों पर विस्तार से चर्चा करते हुए बताया कि मक्का उत्पादक किसानों की समस्याओं का समाधान करवाया जाएगा। जले ट्रांसफार्मर को बदलवाने के लिए उपभोक्ताओं की संख्या 75 से घटाकर 50 प्रतिशत कर दी गई है। साथ ही जमा की जाने वाली बकाया राशि भी 40 प्रतिशत से घटाकर 20 प्रतिशत कर दी गई है। दीवाली के बाद कपास उत्पादक जिलों में 16 खरीदी केन्द्र शुरू हो जाएंगे।

Ad Block is Banned