मानव संसाधन मंत्री के गांव में यह पूछती है जनता...जानिए

खुटिया झंझरिया में ५० लाख रुपए की लागत के तालाब का निर्माण अभी तक शुरू नहीं हो पाया है।

By: manohar soni

Published: 26 Jan 2018, 02:30 PM IST

 

छिंदवाड़ा. जिला मुख्यालय से १२ किमी दूर केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर का आदर्श गांव खुटिया झंझरिया में ५० लाख रुपए की लागत के तालाब का निर्माण अभी तक शुरू नहीं हो पाया है। इस गांव का हर दूसरा रहवासी बाहर से आनेवाले किसी व्यक्ति से यहीं पूछ बैठता है कि उनके गांव का तालाब कब बनेगा। इस सवाल का जवाब तो निर्माण एजेंसी ग्रामीण यांत्रिकी विभाग के पास है लेकिन अधिकारी उसे देना नहीं चाह रहे हैं।
इस पंचायत के ऑफिस के ठीक सामने लगा भूमिपूजन का बोर्ड बताता है कि ३१ जुलाई २०१७ को इस गांव में क्षेत्रीय विधायक चौधरी चंद्रभान सिंह आए थे और ५० लाख रुपए की लागत से प्रस्तावित तालाब का भूमिपूजन गाजे-बाजे के साथ किया था। इस तालाब को पंचायत के बागदेव ढाना में बनाना प्रस्तावित किया गया था। तब से लेकर अब तक उस इलाके के ग्रामीणों को अभी तक तालाब निर्माण का इंतजार हैं। उस टोले के ग्रामीण जन बताते हैं कि इस टोले में हर माह कोई न कोई अधिकारी-कर्मचारी दौरा करते हैं। वे उनसे तालाब के बारे में पूछते भी है। अभी तक इसका निर्माण शुरू नहीं किया गया है।
सरपंच फूलभान शाह का कहना है कि उनके गांव को सांसद आदर्श ग्राम जरूर बनाया गया है लेकिन अपेक्षाकृत काम नहीं हो रहे हैं। तालाब का भूमिपूजन हुए छह माह हो गए। अभी तक निर्माण कार्य शुरू नहीं किया गया है। ग्रामीणजन उनके पास आकर इसका सवाल करते हैं। वे जवाब नहीं दे पाते हैं। जब केन्द्रीय मंत्री आएंगे, तब इसकी शिकायत करेंगे।

पहले पांच लाख का बना था स्टापडैम
इस बागदेव टोला में पहले मनरेगा से पांच लाख का स्टापडैम बनाना बताया गया है लेकिन मैदान में जाकर देखो तो यह नजर नहीं आता। केवल पत्थरों की परत नजर आती है। इसकी शिकायत होने पर आरईएस के अधिकारी जांच करने गए थे। उसके बाद नतीजा क्या निकला, अभी तक सामने नहीं आया है।

दो सड़क और आंगनबाड़ी की इंजीनियरिंग फेल
इस सांसद आदर्श ग्राम में दो सीमेंट सड़क और आंगनबाड़ी भवन का निर्माण कराया गया था। इसमें इतनी तकनीकी त्रुटि निकली कि आरईएस के सहायक यंत्री एलएस मरावी ने इसकी इंजीनियरिंग को फेल कर दिया और दोबारा निर्माण के आदेश दिए। इसके बाद इनका निर्माण शुरू कराया गया। ग्राम पंचायत सचिव सुरेश वर्मा ने बताया कि ये सड़क जगतपाल के घर से आम के पेड़ तक १०० मीटर लागत १.४० लाख रुपए तथा फूल के घर से भानशा के घर तक सौ मीटर लागत २.४० लाख रुपए है। तीसरा ७.८० लाख रुपए का आंगनबाड़ी केन्द्र भवन है। निर्माण कार्य में त्रुटि के चलते इस निर्माण को दोबारा कराया गया है।

manohar soni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned