केंद्रीय मंत्री गडकरी ने दी यह बड़ी सौगात

चार बच्चों को दिया कॉक्लियर इम्प्लांट

By: Rajendra Sharma

Published: 11 Sep 2017, 05:30 PM IST

छिंदवाड़ा/नागपुर. कर्णबधीर गरीब लोगों के लिए यह खास खबर है। नागपुर के मेयो अस्पताल में पहला कॉक्लियर इम्प्लांट का उद्घाटन केंद्रीय मंत्रनितिन गडकरी ने किया है। इस दौरान गडकरी के हाथों चार बच्चों को कॉक्लियर इम्प्लांट वितरित भी किया गया, जिसमें आराध्या नवकरकर, नक्षत्र तलमले, मोहम्मद शाहिद, मोहम्मद आवाज को यह उपकरण दिए गए।
इस अवसर पर गडकरी ने कहा कि कर्णबधीर गरीब लोग जब उनसे मिलते थे तो उस दौरान उन्हें इलाज के लिए मुंबई भेजा जाता था, वहां कॉक्लियर इम्प्लांट के लिए उन्हें निजी अस्पतालों में 6 से 7 लाख रुपए का खर्च आता था, लेकिन अब नागपुर में यह व्यवस्था होने से गरीब लोगों को इसका लाभ मिलेगा।
उन्होंने बताया कि करीब 40 लाख लोग कर्णबधीर समस्या से ग्रस्त हैं। अभी यह कॉक्लियर इम्प्लांट बाहर से मंगाया जा रहा है, जिसके कारण यह महंगा हो रहा है। गडकरी ने बताया कि प्रधानमंत्री से चर्चा कर मिहान में मेडिकल पार्क बन रहा है तो इस इम्प्लांट को यहीं पर बनाने की योजना बनाई जाएगी, जिससे इसका खर्च ओर भी कम हो सकेगा।
रविवार को कॉक्लियर इम्प्लांट के चार ऑपरेशन किए। इसके लिए अभी से करीब छह लोगों के ऑपरेशन वेटिंग लिस्ट पर हैं। उन्होंने कहा कि मेक इन इंडिया और मेड इन इंडिया के तहत इसका निर्माण भी यहीं शुरू करने का भी विचार किया जाएगा।
गडकरी ने मेयो अस्पताल की नई इमारत की तारीफ तो कि साथ ही हंसते हुए यह भी कहा कि यहां लगी लिफ्ट पर किसी भी कंपनी का नाम नहीं है।
जिसके कारण इमारत के काम में भ्रष्टाचार तो नहीं हुआ कहते हुए उन्होंने चुटकी ली। इस कार्यक्रम में डॉ. अनुराधा श्रीखंडे, डॉ. जीवन वेदी, डॉ. मिलिंद कीर्तने, डॉ. सुषमा ठाकरे समेत मेडिकल के सम्बंधित अनेक विद्यार्थी मौजूद थे। माना जा रहा है कि नागपुर में कॉक्लियर इम्प्लांट का उद्घाटन होनो से विदर्भ के अलावा मप्र व छत्तीसगढ़ से आने वाले मरीजों को भी लाभ मिलेगा।

Rajendra Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned