भारतीय डाक विभाग का महामेला आयोजित

सम्मानित कर किया प्रोत्साहित

 

By: mantosh singh

Published: 11 Dec 2017, 12:43 PM IST

छिंदवाड़ा. स्थानीय राजमाता सिंधिया गल्र्स कॉलेज में डाक विभाग छिंदवाड़ा संभाग द्वारा महामेला आयोजित किया गया। जिसमें बचत बैंक, डाक जीवन बीमा, ग्रामीण डाक जीवन बीमा, सुकन्या समृद्धि योजना एवं व्यवसाय विकास कार्यशाला आयोजित की गई।

महामेला में मुख्य अतिथि के रूप में भारतीय डाक विभाग मध्यप्रदेश परिमंडल भोपाल मुख्य पोस्टमास्टर जनरल आलोक शर्मा मौजूद रहे। अध्यक्षता संभागीय अधीक्षक डाकघर आरपीएस चौहान ने की। इस मौके पर वित्तीय वर्ष २०१७-१८ में उत्कृष्ट कार्य करने वाले डाक विभाग के कर्मचारियों को सम्मानित किया गया।

मुख्य पोस्टमास्टर जनरल आलोक ने अपने उद्बोधन में डाक विभाग की आगामी जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी। कोर सिस्टम इंटीग्रेशन, ग्रामीण सूचना एवं तकनीकी संचार प्रौद्योगिकी, इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक एवं डाक जीवन बीमा के बढ़े दायरे के लिए मार्गदर्शन देते हुए निर्धारित लक्ष्यों की पूर्ति के लिए प्रोत्साहित किया गया।

इन्हें किया गया सम्मानित
सम्मानित होने वालों में छिंदवाड़ा उत्तर उपसंभाग के सहायक अधीक्षक आईके लिल्हारे, डाक वितरण में बैतूल पोस्टमैन डीलाराम सरले, बेनी प्रसाद मिश्रा, बीमा क्षेत्र में सारणी उपडाकपाल मीना पुरोहित एवं टीबी सेनेटोरियम उपडाकपाल कृपाशंकर डेहरिया शामिल रहे। इसी तरह बचत बैंक के क्षेत्र उत्कृष्ट कार्य के लिए शाखा डाकपाल छुई गिरीश बास्टे, मरकावाड़ा अमरवाड़ा शाखा डाकपाल कायनात अंसारी को सम्मान मिला। ग्रामीण डाक जीवन बीमा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य हेतु कुटखेडी आमला के शाखा डाकपाल हरिप्रसाद साहू सहित गिरीश बास्टे को भी सम्मानित किया गया।

 

 

दिसम्बर तक कोर्स कम्प्लीट करवाने की तैयारी
छिंदवाड़ा. इस बार दसवीं बोर्ड स्टूडेंट्स के बीच तैयारी पर अधिक फोकस किया जा रहा है। कोर्स दिसम्बर तक कम्प्लीट करवाने की तैयारी चल रही है, जिससे जनवरी में प्री-बोर्ड एग्जाम करवाया जा सके। दरअसल, इस बार से सीबीएसई ने दसवीं को पूरी तरह से बोर्ड कर दिया है। इस वजह से दसवीं के स्टूडेंट्स के बीच तैयारी अलग तरह से हो रही है। टीचर्स की मानें तो यह साधारण ही है, लेकिन स्टूडेंंट्स के बीच टेंशन है। इस वजह से टीचर्स स्पेशल तैयारी में जुट गई हैं, जिससे कोर्स कम्प्लीट करवाने के तुरंत बाद ही रिविजन पर फोकस किया जा सके। स्टूडेंट्स इस वजह से भी टेंशन में हैं, क्योंकि उन्हें पूरा कोर्स पढऩा पडेगा। पहले पूरे कोर्स को दो भागों में बांटा जाता था। एसए (सब्मिटेड एसेसमेंट) १ और २ में हुआ करते थे, लेकिन अब एक एग्जाम हो गया है।

mantosh singh Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned