Insurance company: इंश्योरेंस कम्पनी देगी बीमा की पूरी राशि, फोरम ने किया आदेश

न्यायालय जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोषण फोरम ने शुक्रवार को एक वाहन इंश्योरेंस कम्पनी के खिलाफ फैसला सुनाया।

छिंदवाड़ा. न्यायालय जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोषण फोरम ने शुक्रवार को एक वाहन इंश्योरेंस कम्पनी के खिलाफ फैसला सुनाया। फोरम ने आदेशित किया है कि दो माह के भीतर कम्पनी वाहन के मालिक को क्षतिग्रस्त वाहन की बीमा राशि एवं अदा करें। इसके अलावा वाद व्यय प्रस्तुत करने का खर्च एवं मानसिक क्षतिपूर्ति राशि भी देना होगा।

जब्बार खान पिता अल्लू खान निवासी दातला ईस्ट नम्बर 6 जुन्नारदेव ने उपभोक्ता अधिनियम 1986 की धारा 12 के तहत इंश्योरेंस कम्पनी के खिलाफ सेवा में कमी के आधार पर परिवाद पेश किया। जब्बार खान ने अपने चौपहिया वाहन का एक इंश्योरेंस कम्पनी से बीमा कराया था। वाहन दुर्घटनाग्रस्त होने के कारण क्षतिग्रस्त हो चुका था। क्लेम के लिए कम्पनी से पत्राचार किया, लेकिन वाहन में क्षमता से अधिक सवारी बैठी होने का हवाला देते हुए कम्पनी के अधिकारियों ने क्लेम देने से इनकार कर दिया। वाहन मालिक ने अपने अधिवक्ता के माध्यम से उपभोक्ता विवाद प्रतितोषण फोरम में परिवाद पेश किया। दोनों पक्ष के अधिवक्ताओं के तर्कों को सुनने के बाद फोरम की अध्यक्ष लक्ष्मी शर्मा एवं सदस्य निधि बारंगे ने इंश्योरेंस कम्पनी को आदेशित किया कि वह वाहन मालिक को दो माह के भीतर 85 हजार 175 रुपए का भुगतान करें अन्यथा दो माह में भुगतान ना होने की स्थिति में आदेश दिनांक से आदयगी दिनांक तक सात प्रतिशत साधारण वार्षिक ब्याज अतिरिक्त देय होगा। मानष्कि कष्ट के लिए सात हजार रुपए और वाद व्यय प्रस्तुत करने के लिए तीन हजार रुपए का भुगतान करना होगा।

Show More
babanrao pathe Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned