इस पैसेंजर का आवागमन बंद होने से हजारों यात्री परेशान

Rajendra Sharma

Publish: Nov, 15 2017 11:28:03 (IST)

Chhindwara, Madhya Pradesh, India
इस पैसेंजर का आवागमन बंद होने से हजारों यात्री परेशान

नरखेड़ से नागपुर जाने वाले यात्रियों को 25 रुपए की जगह अब 100 रुपए करने पड़ रहे खर्च

छिंदवाड़ा/नागपुर. रेलवे प्रशासन ने अचानक इटारसी पैसेंजर ट्रेन का संचालन बंद कर दिया, जिससे यात्रियों को परेशान होना पड़ रहा है। ज्ञात हो कि यह ट्रेन 56 दिन के लिए रद्द की गई है।
इस पैसेंजर ट्रेन के बाद होने से काटोल, नरखेड़ के यात्रियों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। विशेषत: छोटे गांवों में पैसेंजर के अलावा अन्य ट्रेनों का स्टॉपेज नहीं होने से यहां के यात्रियों की परेशानी बढ़ गई है। बाहर आवागमन के लिए बड़े स्टेशन तक पहुंचने में बस या निजी वाहनों का सहारा लेना पड़ रहा है। जिसमें समय और पैसा भी बर्बाद हो रहा है। इतना ही नहीं तो पैसेंजर में सहजता से जगह मिल जाती है, लेकिन बड़ी ट्रेनों में धक्के खाना मजबूरी बन गई है।

56 दिन के लिए ट्रेन रद्द

नागपुर-इटारसी ट्रेन क्रमांक-51829 तथा इटारसी-नागपुर ट्रेन क्रमांक 51830 पैसेंजर रद्द की गई है। परिणाम स्वरूप नरखेड़ के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्र के यात्रियों में रेलवे प्रशासन के प्रति नाराजगी व्याप्त है। बता दें कि 5 नवंबर से 31 दिसंबर तक यानी करीब 56 दिन के लिए यह ट्रेन रद्द होने की घोषणा रेलवे प्रशासन ने की है।
इस मार्ग की अन्य एक्सप्रेस सुपर फास्ट तथा आमला-नागपुर, नागपुर-आमला पैसेंजर समय सारणी के अनुसार चल रही है। लेकिन नागपुर-इटारसी, इटारसी-नागपुर यहीं ट्रेन रद्द किए जाने से यात्रियों में संदेह निर्माण हो रहा है। इस ट्रेन के बदले में किसी प्रकार की पर्यायी व्यवस्था नहीं होने से यात्रियों को परेशानियों से जूझना पड़ रहा है।

देरी से पहुंच रहे ड्यूटी पर

रद्द की गई पैसेंजर ट्रेन से शासकीय, अर्धशासकीय कर्मचारी अपनी ड्यूटी पर विलंब से पहुंच रहे है। सिर्फ 25 रुपए की टिकट में और वहीं भी पौने दो-दो घंटों में नरखेड़ से नागपुर जाने वाले यात्रियों को 100 रुपए में और वह भी तीन घंटों में नागपुर पहुंचना पड़ रहा है। जिससे उनकी आर्थिक परिस्थिति का सामना करना पड़ रहा है। रद्द की गई पैसेंजर ट्रेन नए साल के 1 जनवरी से पूर्णवत चलाए जाने की संभावना है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned