कमलनाथ के मुख्यमंत्री बनते ही जागीं यह उम्मीदें

जलसंकट दूर किए जाने समेत उद्योग स्थापना की हो रही मांग

By: Rajendra Sharma

Published: 18 Dec 2018, 09:10 AM IST

छिंदवाड़ा/पांढुर्ना. मुख्यमंत्री के रूप में जिले के नेता कमलनाथ के सोमवार को शपथ लेते ही क्षेत्रवासियों में उत्साह की लहर दौड़ पड़ी। शपथ ग्रहण के बाद किसानों के कर्ज माफी से संबधित कागजातों पर सीएम के हस्ताक्षर ने किसानों के चेहरों पर खुशी ला दी है।
इधर, सीएम बनते ही कमलनाथ से क्षेत्रवासियों की उम्मीदें बढ़़ गई हैं। क्षेत्र की पुरानी जलसंकट समस्या के साथ ही युवाओं को रोजगार मुहैया कराने के लिए उद्योग लगाने की मांग तेजी से होने लगी है।

शहर के लिए बने कामठीकलां जलाशय

पिछले दस सालों से राजनिति का शिकार हो रही कामठीकलां जलाशय योजना को 2019 में मूर्त रूप मिलें। भाजपा सरकार ने इस जलाशय के कार्य में देरी की थी। चुनाव के अंतिम साल में इस कार्य को स्वीकृति मिली और धारा 19 का प्रकाशन हो चुका है। शासन ने तीन करोड़ रुपए जलाशय के निर्माण कार्यों के लिए दिए हैं। शेष राशि मिलना बाकी है। कमलनाथ के सीएम बनते ही अब इसमें तेजी आने के आसार है।

गाइडलाइन में बदलाव से दूर होगा जलसंकट

शासन की प्रति हैक्टेयर दर कम होने की वजह से क्षेत्र के कई जलाशय योजना अटकी हुईं हैं। नेशनल हाइवे के आसपास प्रस्तावित खडग़नाला जलाशय, सिवनी में भिवकुंड जलाशय, आजनगांव में बघौली जलाशय का निर्माण होना वर्तमान गाइड लाइन के हिसाब से संभव नहीं है। यदि सीएम कमलनाथ ने इसमें बदलाव किए तो उक्त जलाशयों का निर्माण का रास्ता साफ हो जाएगा और भविष्य में पांढुर्ना शहर सहित सिवनी और आजनगांव जैसे जलसंकट वाले क्षेत्र को सूखे से मुक्त होने में मदद मिलेगी।

रोजगार के लिए उद्योगों का इंतजार

दस वर्ष पहले केन्द्रीय मंत्री रहते कमलनाथ ने ही हिवरासेनडवार में टैक्सटाइल्स पार्क की सौगात दी थी। यहां पर भूमि का अधिग्रहण कर उद्योगों की स्थापना होनी थी, परंतु कुछ कमियों की वजह से आज तक उद्योग स्थापित नहीं हो सके। भाजपा ने इस विधानसभा चुनाव में इसे मुद्दा भी बनाया था। अब सीएम कमलनाथ के सामने रोजगार एक चुनौती है जिसके लिए टैक्सटाइल्स पार्क में उद्योगों की स्थापना करने की उम्मीद उनसे है।

पांढुर्ना को जिला बनाना प्रमुख मांग

पांढुर्ना को जिला बनाने की मांग तेजी से होती रही है। पांढुर्ना जिला बनता है तो आने वाले वर्षों में इसका विकास और भी अधिक तेजी से होगा। हर वर्ग पांढुर्ना को जिला बनाने की मांग कर रहा है। मुख्यमंत्री से अब इस मांग को पूरा कराने के लिए क्षेत्रवासी एकजुट होंगे।

 

Rajendra Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned