Fraud: किसान सम्मान निधि को बनाया धोखाधड़ी का जरिया

धोखेबाज फोन पर किसान सम्मान निधि बैंक खाते में डालने की बात कहकर लोगों से आधार कार्ड, बैंक एकाउंट सहित अन्य जानकारी मांग रहे हैं।

By: babanrao pathe

Updated: 22 Jul 2021, 11:32 AM IST

छिंदवाड़ा. किसान सम्मान निधि को भी धोखाधड़ी का जरिया बना लिया गया है। धोखेबाज फोन पर किसान सम्मान निधि बैंक खाते में डालने की बात कहकर लोगों से आधार कार्ड, बैंक एकाउंट सहित अन्य जानकारी मांग रहे हैं। इस तरह का एक मामला बुधवार को ही सामने आया है।

पी.एस चौधरी निवासी गुलमोहर कॉलोनी परासिया रोड निवासी ने बताया कि बुधवार सुबह 10.30 मेरे मोबाइल पर फोन आया था। प्रधानमंत्री सम्मान निधि का लाभ नहीं मिल पा रहा है। राशि उनके खाते तक नहीं पहुंच रही। बार-बार डाल रहे वापस आ रही है। उनका बैंक खाता नम्बर, एटीएम कार्ड का नम्बर फिर ओटीपी आएगा वह बताना है। उसी दौरान पी.एस. चौधरी के बेटे शक्ति सिंह चौधरी के मोबाइल पर एक संदेश आया कि आधार कार्ड या फिर केवायसी से सम्बंधित कोई जानकारी फोन पर मांगता है तो न दें। बुधवार को अवकाश है और इसके पहले कभी सम्मान निधि मिली भी नहीं तो बेटे को संदेह हुआ। शासकीय व्यक्ति छुट्टी के दिन फोन कैसे किया। संदेह होने पर पिता से बेटे ने फोन लेकर बातचीत की तो उसने कहा कोई दूसरा खाता नम्बर दे दो उसमें राशि डाल देते हैं। शक्ति सिंह चौधरी ने कहा कि मैं अपना खाता नम्बर देता हूं, फोन काटकर तो अगले व्यक्ति ने कहा फोन नहीं काटना नहीं तो राशि नहीं मिलेगी। इसके बाद दोनों के बीच बहस हुई और बदमाश ने फोन काट दिया। उन्होंने बताया कि एक साथ तीन बातों के ध्यान में आने से धोखाधड़ी का शिकार होने से बच गए हैं।


पत्रिका अखबार और एसपी को दिया धन्यवाद
अधिवक्ता शक्ति सिंह चौधरी एवं उनके पिता पी.एस चौधरी का कहना है कि पत्रिका में लगातार प्रकाशित हो रही खबरों की वजह से उन्हें यह बात मालूम थी कि इस तरह के फ्रॉड हो रहे हैं। वहीं शिकायत करने पर तत्काल साइबर सेल की टीम ने बताया दिया कि फोन उन्हें पश्चिम बंगाल से किया गया था। इस पर उन्होंने जिले के पुलिस अधीक्षक विवेक अग्रवाल का भी आभार व्यक्त किया है।

Show More
babanrao pathe Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned