scriptKrishi Bill 2020: The benefit of suspension of law | Krishi Bill 2020: कानून स्थगित होने का हुआ फायदा, आय में मिला 156 फीसदी इजाफा | Patrika News

Krishi Bill 2020: कानून स्थगित होने का हुआ फायदा, आय में मिला 156 फीसदी इजाफा

कुसमेली मंडी ने बनाया रिकॉर्ड: गत वर्ष की तुलना में हुई कमाई ने मंडी को प्रदेश के पटल पर ला दिया

छिंदवाड़ा

Published: April 09, 2022 10:50:14 am

छिंदवाड़ा। कोरोना संकट एवं मॉडल एक्ट से उबरने के बाद छिंदवाड़ा मंडी का प्रदर्शन काफी सुधर गया है। छिंदवाड़ा जिला सहित आसपास के किसानों की पहली पसंद बन चुकी कुसमेली मंडी ने इस सत्र 2021-22 में जमकर कमाई की। गत वर्ष की तुलना में हुई कमाई ने मंडी को प्रदेश के पटल पर ला दिया है।
जानकारी के अनुसार इस बार की कमाई के चलते आय में 156.43 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है। जबकि मंडी द्वारा सत्र 2021-22 का कुल बजट ही 15 करोड़ रुपए के नीचे बनाया गया था।
मंडी जानकारों की मानें तो इस बार जिले में उत्पादन के साथ-साथ, फसलों के अच्छे दामों के कारण मंडी में आमदनी बढ़ी है। व्यापारियों द्वारा नकद भुगतान की सुविधा एवं नीलामी में पारदर्शिता ने भी मंडी की आवक को बढ़ाया है। पिछले साल सत्र 2020-21 कोरोना संक्रमण की पहली लहर के साथ, मॉडल एक्ट के नियम ने मंडी के कारोबार को जमकर प्रभावित किया था।
मॉडल एक्ट के नियम के कारण मंडी परिसर में खरीदी-बिक्री का नियम शिथिल हो गया था। इसके कारण आवक भी काफी कम हो गई थी। जनवरी 2021 में मॉडल एक्ट के स्थगित करने के बाद मंडी परिसर में अनाज खरीद बिक्री की बाध्यता पुन: लागू हो गई थी।

chhindwara
chhindwara

इनका कहना है
तीन बड़े कारणों से इस साल मंडी की कमाई में इजाफा हुआ है। इस साल सत्र के शुरू होने के पहले ही कृषि कानून को स्थगित कर दिया गया था। इससे मंडी परिसर के बाहर जाने वाली उपज मंडी में पहुंचने लगी। फसलों के मूल्य बढ़े और अधिक से अधिक किसानों ने
मूल्यवृद्धि के फायदे के लिए मंडी में आमद दी।

प्रतीक शुक्ला, अध्यक्ष छिंदवाड़ा अनाज व्यापारी संघ
जिले में इस बार अच्छा उत्पादन हुआ। साथ ही दूसरी मंडियों की तुलना में किसानों को दाम अधिक मिले। नकद भुगतान की सुविधा मिली। समय पर नीलामी करवाने का फायदा भी किसान को मिला। इसके लिए मंडी स्टाफ ने भी अपनी ड्यूटी निभाई। आमदनी में इजाफा सभी कारणों के परिणाम स्वरूप हुआ।
सुरेश कुमार परते, सचिव कृषि उपज मंडी, कुसमेली

ऐसे तय होता है मंडी शुल्क
मंडी में आने वाली उपज की नीलामी होती है, जिसके बाद उसकी तौल एवं भुगतान तैयार किया जाता है। भुगतान पत्रक में किसानों को दिए गए भुगतान के आधार पर मंडी में शुल्क निर्धारित होता है। यदि उपज की दरें अधिक हैं तो उतनी ही मात्रा के उपज का भुगतान अधिक होगा और उसका मंडी शुल्क भी अधिक देय होगा। इस साल मक्का की दरें जहां 1400-1500 रुपए प्रति क्विंटल से नीचे नहीं गई, वहीं अधिकतम 2200 रुपए प्रति क्विंटल भी भाव किसानों को मिले। जबकि मार्च के पूरे महीने में गेहूं के भाव रिकॉर्ड स्तर 2477 रुपए प्रति क्विंटल तक के दाम पहुंचे। मंडी नियमों के अनुसार उपज के दाम व भुगतान उसकी आय को बढ़ाते और घटाते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

कांग्रेस के बाद अब 20 मई को जयपुर में भाजपा की राष्ट्रीय बैठक, ये रहा पूरा कार्यक्रमTRAI के सिल्वर जुबली प्रोग्राम में PM मोदी ने लॉन्च किया 5G टेस्ट बेड, बोले- इससे आएंगे सकारात्मक बदलावपूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिंदबरम के बेटे के घर पर CBI की रेड, कार्ति बोले- कितनी बार हुई छापेमारी, भूल चुका हूं गिनतीकुतुब मीनार और ताजमहल हिंदुओं को सौंपे भारत सरकार, कांग्रेस के एक नेता ने की है यह मांगकोर्ट में ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट पेश होने में संशय, दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट में एक बजे सुनवाई, 11 बजे एडवोकेट कमिश्नर पहुंचेंगे जिला कोर्टपूनियां हत्याकांड में बड़ा अपडेट : चौथे दिन भी नहीं हुआ पोस्टमार्टम, शव उठाने को लेकर मृतक के भाई के घर पर चस्पा किया नोटिसहरियाणा: हरिद्वार में अस्थियां विसर्जित कर जयपुर लौट रहे 17 लोग हादसे के शिकार, पांच की मौत, 10 से ज्यादा घायलConstable Paper Leak: राजस्थान कांस्टेबल परीक्षा रद्द, आठ गिरफ्तार, 16 मई के पेपर पर भी लीक का साया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.