13 वर्ष बाद भी नहीं बना शौचालय

13 वर्ष बाद भी नहीं बना शौचालय

Arun Garhewal | Publish: Apr, 22 2019 05:16:14 PM (IST) | Updated: Apr, 22 2019 05:16:15 PM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

ग्रामीण सुलभ सुविधा नहीं होने से अस्पताल के अंदर घरों के आसपास गंदगी फैलाते है।

छिंदवाड़ा. पांढुर्ना. वर्ष 2007 में सिविल अस्पताल के सीमा पर पं. दीनदयाल उपाध्याय कॉम्पलैक्स का निर्माण किया गया था। इस कॉम्पलैक्स में 30 से अधिक दुकानों को नीलामी के उपरांत दुकानदारों को सौंपा गया था लेकिन एक वादा जो 13 साल पहले रोगी कल्याण समिति ने दुकानदारों से किया था उसे आज तक पूरा नहीं कर पाने से दुकानदार शर्मिंदा होकर यहां समय काटने मजबूर है। जब कॉम्पलैक्स का निर्माण किया था तो दुकानदारों ने सुलभ सुविधा की मांग की थी। जिसे शीघ्र पूरा करने का आश्वासन दिया गया था। परंतु दुकानदारों को यह सुविधा आज तक नसीब नहीं हो सकी है। दुकानदारों ने कई बार इस सुविधा के लिए रोगी कल्याण समिति की बैठक में कहा परंतु रोकस द्वारा लिए गए निर्णय आज भी धूल खा रहे हैं।
पल्ला झाड़ता रहा स्वास्थ्य विभाग: बीएमओ रहते डॉ अनिल कड़वे इस विशय पर कोई खास प्रभावषील कदम नही उठा पाएं। जब डॉ एच पी चौव्हान बीएमओ बने तो दुकानदारों के साथ अस्पताल के बाजु में रहने वाले व्यवसायी कृश्णचंद्र खुडख़ुडिय़ा ने इसके लिए कई बार पत्राचार किया। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग षौचालय निर्माण नही करता यह कहकर पल्ला झाड़ता रहा। चौहान के कार्यकाल के अंतिम समय में नगर पालिका ने स्वास्थ्य विभाग से एनओसी लेकर इसका निर्माण षुरू करने का आष्वासन दिया था जो आज तक रूप नही ले सका है।
आसपास करते गंदगी : ज्ञात हो कि महाराष्ट्र सीमा पर बसें गांवों में जाने के लिए अस्पताल के इसी कॉम्पलैक्स के सामने टैक्सियांं खड़ी रहती है जिसके लिए सैकड़ों ग्रामीण यहां खड़े रहते है। ग्रामीण सुलभ सुविधा नहीं होने से अस्पताल के अंदर घरों के आसपास गंदगी फैलाते है। इसी तरह की समस्या दुकानदारों के साथ भी है।
शीघ्र होना चाहिए निर्माण : अस्पताल के समीप रहने वाले व्यवसायी कृष्णचंद्र खुडख़ुडिय़ंा का कहना है कि अस्पताल की सडक़ से लगे भाग में सुलभ सुविधा के लिए एनओसी जारी करने के बावजूद नगर पालिका यहां निर्माण नहीं कर पा रही है जबकि लोगों के लिए यह सुविधा शीघ्र बहाल होनी चाहिए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned