लोन स्वीकृत कराया पर पूरी राशि नहीं मिली

सुनवाई नहीं होने पर प्रमोद सोनी ने अपने अधिवक्ता के माध्यम से जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोषया फोरम में परिवाद दायर किया।

By: babanrao pathe

Published: 19 Jan 2019, 11:46 AM IST

छिंदवाड़ा. जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोषण फोरम ने सेवा में कमी के एक मामले पर फैसला सुनाते हुए संबंधित को पंद्रह दिन के भीतर शेष राशि ग्राह के खाते में जाम करने और क्षतिपूर्ति सहित वाद व्यय देने के आदेश दिए हैं। फैसला फोरम की दो सदस्यों की बेंच ने सुनाया।

गांगीवाड़ा निवासी प्रमोद (४०) पिता कन्हैयालाल सोनी ने शहर की एक संस्था से लोन स्वीकृत कराया था। लोन की आधी रकम उनके बैंक खाते में आ गई और किश्ते भी जमा करने लगे। स्वीकृत लोन में से बची हुई राशि लम्बे समय तक खाते में नहीं आई तब उन्होंने मौखिक शिकायत की। सुनवाई नहीं होने पर प्रमोद सोनी ने अपने अधिवक्ता के माध्यम से जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोषया फोरम में परिवाद दायर किया। फोरम के सदस्य सतीश कुमार साहू एवं निधि बारंगे ने दोनों पक्ष के अधिवक्ताओं की दलील सुनने के बाद लोन देने वाली संस्था और उसके महाप्रबंधक को आदेश जारी किया कि वह आदेश दिनांक से १५ दिन के अंदर ३ लाख ५८ हजार ८०७ रुपए का भुगतान प्रमोद को करें अगर एेसा नहीं किया तो जमा की गई किश्त १० प्रतिशत ब्याज की दर से लौटाई जाए। पंद्रह दिन के भीतर ऋण अदायगी किश्तों के अतिरिक्त वसूल की गई राशियों की जानकारी दें। इसके अलावा सेवा में कमी की क्षतिपूर्ति पांच हजार रुपए एवं वाद व्यय तीन हजार रुपए देने के आदेश दिए।

 

Patrika
babanrao pathe Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned