लॉकडाउन: सब्जी बाजार-किराना दुकानें लगातार दूसरे दिन बंद

गुरैया स्थिति थोक सब्जी मंडी को भी पूरी तरह बंद

छिंदवाड़ा / शहर में कोरोना से एक व्यक्ति की मौत के बाद प्रशासन लॉकडाउन को लेकर काफी सख्त हुआ है। शनिवार और रविवार को ऐसे सभी केंद्रों को संचालन की अनुमति बिल्कुल नहीं दी गई जहां भीड़ इक_ा होती हो। गुरैया स्थिति थोक सब्जी मंडी को भी पूरी तरह बंद रखा गया तो किराना दुकानों से सप्लाई पर भी रोक लगा दी गई। एक सप्ताह में यह पहली बार हुआ जब सब्जियों और फल के ठेले दिनभर शहर में घूमते नहीं दिखे। हालांकि इक्का-दुक्का सब्जी के ठेले मोहल्लों के अंदरूनी इलाकों और कॉलोनियों के अंदर नजर आए। लगातार दो दिन से थोक मंडी बंद होने के कारण सब्जियां उनके पास भी कम ही दिखीं और लोग भी कम दिखे। इन ठेलों पर पुलिस की पेट्रोलिंग पार्टी की नजर पड़ी तो रोकर उन्हें भी समझाइश दी।
सब्जी ठेला वाले भी उनको देखकर गलियों में जल्द अपना ठेला उनसे छिपाकर घुमाते रहे। दरअसल, शहर में पिछले चार पांच दिनों से सब्जियों के घूम रहे हाथ ठेलों से लोगों ने दो-चार दिन की सब्जियां पहले ही खरीद ली थीं। आलू- प्याज सबसे ज्यादा लोगों ने खरीद कर रख लिए, ताकि सब्जियां न भी हो तो आलू-प्याज की सदाबहार सब्जी और दाल से काम चल सके।
जिन लोगों को अचानक इनके बंद होने का पता नहीं था वे लोग जरूर परेशान होते दिखे। लोगोंं को लग रहा था कि रोज अब उनके मुहल्लें में सब्जी बिकेगी। कुछ लोग यही सोचकर ताजी सब्जियां खरीदने के मूड में थे। दो दिन मंडी बंद का पता चलने के बाद वे रविवार को ठेले वालों का इंतजार करते दिखे। लालबाग निवासी केशव राजपूत ने बताया कि रविवार बाजार होने के कारण ताजा सब्जी मिल जाती थी, लेकिन अब कोई बात नहीं एक-दो दिन बाद खरीद लेंगे। पीजी कॉलेज रोड स्थित श्रीकृष्ण पुरम निवासी श्वेता सिंह ने बताया कि अन्य शहरों की अपेक्षा छिंदवाड़ा में प्रशासन छूट ज्यादा दे रहा है। लोगों को किराना और सब्जियां आसानी से उपलब्ध हुईं हैं। दो-चार दिन की बंदी का कोई विशेष असर लोगों पर नहीं दिखेगा। हां आठ-दस दिन का लगातार कड़ा लॉकडाउन होता है तो फिर लोगों को परेशानी हो सकती है। दीनदयाल पुरम निवासी रागिनी सूर्यवंशी ने बताया कि इस समय जो मिल रहा है उसमें संतुष्ट होने की जरूरत है। प्रशासन कड़ाई कर रहा है तो लोगों की सुरक्षा के लिए प्रशासन पर ये आरोप नहीं लगाना चाहिए कि ये नहीं मिल रहा वो नहीं मिल रहा। हां ज्यादा जरूरतमंदों को मूलभूत चीजें समय पर उपलब्ध हों, प्रशासन को इस पर ध्यान देना चाहिए।
सोमवार को तय होगा मंडी खुलेगी या नहीं : इधर, मंडी सचिव अशोक डेहरिया ने बताया कि सोमवार को तय किया जाएगा कि मंगलवार को गुरैया सब्जी मंडी खुलेगी या नहीं। उन्होंने कहा कि सोमवार को क्या हालात होंगे यह देखकर प्रशासन तय करेगा। गौरतलब है सब्जियां तो भरपूर हो रहीं हैं, लेकिन मंडी में उठाव नहीं है। ऐसे में व्यापारी भी अब लॉकडाउन की स्थिति में सब्जियां खरीदने के इच्छुक नहीं दिख रहे। मंडी के व्यापारी भी मंगलवार से मंडी में व्यापार करना है या नहीं, इस संबंध में निर्णय सोमवार को ले सकते हैं।

Show More
chandrashekhar sakarwar Photographer
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned