लोकसभा निर्वाचन २०१९

दूसरा प्रशिक्षण सात से

छिंदवाड़ा. लोकसभा निर्वाचन २०१९ के अंतर्गत पीठासीन अधिकारी और मतदान अधिकारी क्रमांक एक का द्वितीय प्रशिक्षण सात और आठ अप्रैल को सुबह १० से शाम पांच बजे तक सम्बंधित राजस्व अनुविभागीय अधिकारी द्वारा विधानसभावार चिह्नांकित स्थलों पर आयोजित किया गया है। प्रशिक्षण कार्यक्रम में सात अप्रैल को तीन हजार ८४ पीठासीन अधिकारियों और आठ अप्रैल को तीन हजार ७२ मतदान अधिकारी क्रमांक एक को प्रशिक्षण दिया जाएगा। कलेक्टर डॉ.शर्मा ने सभी राजस्व अनुविभागीय अधिकारियों एवं तहसीलदारों को प्रशिक्षण स्थल पर विद्युत व्यवस्था के साथ ही प्रत्येक कक्ष में पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के लिए प्रोजेक्टर, एलइडी, कम्प्यूटर व्यवस्था, पेयजल एवं साफ-सफाई आदि की व्यवस्था बनाने कहा है।
सात अप्रैल को विधानसभा जुन्नारदेव के प्रशिक्षण केंद्र्र शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय जुन्नारदेव में ४७४, अमरवाड़ा के शासकीय मॉडल स्कूल अमरवाड़ा में ३७७, चौरई के शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय चौरई में ४५९, सौंसर के शासकीय महाविद्यालय सौंसर में ४३८, छिंदवाड़ा के शासकीय महारानी लक्ष्मीबाई कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय छिंदवाड़ा में ७०१, परासिया के शासकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज खिरसाडोह में ३३७ एवं विधानसभा पांढुर्ना के शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय पांढुर्ना में २९८ पीठासीन अधिकारियों को व्दितीय प्रशिक्षण दिया जाएगा।
इसी प्रकार विधानसभा क्षेत्र जुन्नारदेव के प्रशिक्षण केंद्र शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय जुन्नारदेव में ४६६, अमरवाड़ा के शासकीय मॉडल स्कूल अमरवाड़ा में ४१८, चौरई के शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय चौरई में ४५२, सोंसर के शासकीय महाविद्यालय सौंसर में २७०, छिंदवाड़ा के शासकीय महारानी लक्ष्मीबाई कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय छिन्दवाड़ा में ५२५, परासिया के शासकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज खिरसाडोह ५४९ एवं विधानासभा क्षेत्र पांढुर्ना के शासकीय
उत्कृष्ट विद्यालय पांढुर्ना में ३९२ मतदान अधिकारी क्रमांक एक प्रशिक्षण लेंगे।
कब और कहां से निकलेगा जुलूस बताना होगा
छिंदवाड़ा. जुलूस का आयोजन करने वाले दल या प्रत्याशी को पहले ही बताना होगा कि वह राजनीतिक कार्यक्रम कब और कहां करेगा। जुलूस किन स्थानों से निकलेगा। तय स्थान बताने के बाद इससे बदला नहीं जा सकेगा। चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों और अभ्यर्थियों के लिए इसकी अनुमति लेने भी कहा है। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ.श्रीनिवास शर्मा सम्बंधित जिम्मेदार अधिकारियों को इन निर्देशों का पालन कराने भी कहा है। डॉ.शर्मा ने बताया कि जुलूस का आयोजन करने वाले दल या अभ्यर्थी को पहले ही यह बात तय कर लेनी चाहिए कि जुलूस किस समय और किस स्थान से शुरू होगा और किस मार्ग से होकर जाएगा और किस स्थान पर खत्म होगा। आयोजकों को जुलूस का आयोजन ऐसे ढंग से करने कहा गया है जिससे कि यातायात में कोई रुकावट या बाधा उत्पन्न न हो।

chandrashekhar sakarwar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned