प्रदेश में गेहूं खरीदी को इस वजह से लग सकता है बड़ा झटका

प्रदेश में गेहूं खरीदी को इस वजह से लग सकता है बड़ा झटका
Lok Sabha Elections 2019

Prabha Shankar Giri | Updated: 21 Mar 2019, 09:00:00 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

विधानसभा चुनाव में समिति कर्मचारी कर चुके हैं निर्वाचन का काम

छिंदवाड़ा. आम चुनाव के लिए प्रशासनिक तैयारियां पूरी हो गई हैं। चुनाव सम्पन्न कराने के लिए कर्मचारियों के नाम तय किए जा रहे हैं और दो और तीन क्रमांक के चुनाव कर्मचारियों का प्रशिक्षण भी 24 और 25 मार्च को होने वाला है। चुनाव में सभी विभागों के कर्मचारियों को संलग्न किया जा रहा है। इसमें जिले की विभिन्न सहकारी समितियों के कर्मचारी भी शामिल है।
गौरतलब है 25 मार्च से जिले में गेहूं की खरीदी भी प्रारम्भ हो रही है। जिले में 98 समितियों द्वारा यह खरीदी होनी है। इन समिति के कई कर्मचारियों की ड्यूटी चुनाव में लगाई जा सकती है क्योंकि विधानसभा चुनावों में भी इन्हें इस कार्य के लिए संलग्न किया गया था। लोकसभा चुनाव में अगर ऐसा होता है तो गेहूं की खरीदी प्रभावित हो सकती है।
मिली जानकारी के अनुसार विधानसभा चुनावो में सहकारी समितियों के सौ से ज्यादा कर्मचारियों की ड्यूटी लगी थी। उस समय भी मक्का की खरीदी चल रही थी। इस बार समितियों के बजाए सीधे मंडी में किसानों की खरीदी होने के कारण खरीदी पर फर्क नहीं पड़ा, लेकिन इस बार समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी केंद्रों पर ही होनी है। समिति के कर्मचारियों का कहना है कि अभी तो उन्हें प्रशिक्षण का पत्र नहीं मिला है। मिलेगा उसके बाद सम्बंधित विभाग के अधिकारियों को इस बारे में जानकारी दी जाएगी। ध्यान रहे जिले में आगामी 29 अप्रैल को लोकसभा और विधानसभा की छिंदवाड़ा सीट के लिए मतदान होना है। प्रशिक्षण तीन चरणों में होना है। इसके बाद चुनाव की तारीख के दौरान भी तीन से चार दिन के लिए कर्मचारियों को चुनावी काम में ही जुटना पड़ेगा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned