भगवान कृष्ण ने लिया अवतार...

कृष्ण का जन्मोत्सव बड़े ही धूमधाम से गोकुल वासियों द्वाा मनाया

By: arun garhewal

Published: 16 May 2019, 05:27 PM IST

छिंदवाड़ा. जुन्नारदेव. ग्राम पंचायत खापास्वामी में चल रही श्रीमद् भागवत कथा के पांचवे दिन पं. राजेन्द्र चौबे ने श्री कृष्ण जन्म की कथा का वर्णन किया गया।
उन्होंने बताया कि भगवान जन्म तो कारागार में लेते है किन्तु उनके जन्म के साथ ही वह कारागार दिव्य अलौकिक रोशनी से जगमगाने लगता है। कारागार से कृष्ण गोकुल पहुंचते है जहां पर भगवान श्री कृष्ण का जन्मोत्सव बड़े ही धूमधाम से गोकुल वासियों द्वाा मनाया जाता है। श्री कृष्ण जन्म कथा के दौरान नन्हें श्री कृष्ण की झांकी प्रदर्षित की गयी साथ ही नंद घर आनंद भयो जय कन्हैया लाल की के उद्घोष भी किये गये श्री कृष्ण जन्म के दौरान मिष्ठान आदि के प्रसाद का वितरण भी किया गया। जन्मोत्सव मे बधाई गीत का गायन बलराम यदुबंशी और पंडित विनय दुबै ने किया। भागवत पूजन परायण का कार्य पं. विनय महाराज ने पूर्ण किया।
कथा वाचक पं. सुशील महाराज ने बताया कि किसी भी स्थान पर बिना निमंत्रण जाने से पहले इस बात का ध्यान जरूर रखना चाहिए कि जहां आप जा रहे है वहां आपका, अपने इष्ट या अपने गुरु का अपमान हो। यदि ऐसा होने की आशंका हो तो उस स्थान पर जाना नहीं चाहिए। चाहे वह स्थान अपने जन्म दाता पिता का ही घर क्यों हो।
कथा के दौरान सती चरित्र के प्रसंग को सुनाते हुए भगवान शिव की बात को नहीं मानने पर सती के पिता के घर जाने से अपमानित होने के कारण स्वयं को अग्नि में स्वाहा होना पड़ा। कथा में उत्तानपाद के वंश में धु्रव चरित्र की कथा को सुनाते हुए समझाया कि धु्रव की सौतेली मां सुरुचि के द्वारा अपमानित होने पर भी उसकी मां सुनीति ने धैर्य नहीं खोया जिससे एक बहुत बड़ा संकट टल गया।

arun garhewal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned