Corn:इस साल 65 प्रतिशत घट गई मक्का की आवक

सिर्फ 12 लाख क्विंटल आया मक्का में

छिंदवाड़ा. पिछले दो साल से मक्का की खरीदी में रिकार्ड बना रही छिंदवाड़ा कृषि उपज मंडी इस बार बुरी तरह पिछड़ गई है। देश की बड़ी औद्योगिक कंपनियों द्वारा मक्का की खरीदी में रुचि न लेने, गुणवत्ता गिरने और पिछले एक महीने में अचानक गिरे भाव ने मंडी में आवक को तोड़ कर रख दिया। 2018-19 और 2019-20 के एक वर्ष की खरीदी को देखें तो एक साल में ही मक्का की आवक मंडी में 65 प्रतिशत तक घट गई है। इस बार खरीफ में मक्का बारिश और फाल आर्मी वर्म के कारण प्रभावित दिखी। तीस से चालीस प्रतिशत उत्पादन कम हुआ है लेकिन जिस तरीके से जिले में रकबा बढ़ा था उस हिसाब से मक्का बाजार में बिकने के लिए ज्यादा आना थी। अक्टूबर के बाद मक्का की खरीदी शुरू हुई तो शुरु हमें ही भाव किसानों को 1800 रुपए प्रति क्विंटल से ज्यादा मिलने लगे थे जबकि सरकार ने समर्थन मूल्य भी इस बार घोषित नहीं किया गया। शुरू में जिन किसानों ने मक्का लाकर बेचा उन्हें अच्छे दाम मिले बाद में अचानक भाव उतर गया। पिछले साल 36 लाख क्विंटल थी आवक पिछले साल रिकार्ड 36 लाख 15 हजार 878 क्विंटल मक्का छिंदवाड़ा मंडी ने खरीदा था और मंडी में 15 करोड़ रुपए से ज्यादा का राजस्व प्राप्त किया था। इस बार 12 फरवरी तक सिर्फ 12 लाख 92 हजार 261 हजार क्विंटल मक्का ही कृषि उपज मंडी में आई। अप्रैल से लेकर अब तक तक महीनेवार मक्का की आवक देखें तो एक भी महीने में आवक पिछले साल की आवक को पार करती नहीं दिख रही। इस फरवरी में 1 लाख 65 हजार क्विंटल मक्का आया है।
कम दाम के कारण किसान व्यापारी घबराए
पिछले एक महीने में मक्का के दाम एकदम से कम होने के कारण किसान और व्यापारी घबराए हुए है। सबसे ज्यादा कुचिया व्यापारी परेशान है जिन्होंने किसानों से 1700 से 1900 रुपए के दाम देने का वादा कर मक्का खरीद लिया है। ये व्यापारी आखिरी समय में दाम ज्यादा मिलने की जुगत में अनाज रोक कर रखते हैं और फिर मंडी में बेचकर किसानों को कहे अनुसार चुकता कर मुनाफा कमाते हैं। मंडी में मक्का का दाम अब 1600 रुपए प्रति क्विंटल से भी कम हेा गया है। ऐसे व्यापारी जिन्होनें मंडी में नीलामी में बड़ी मात्रा में अनाज खरीदकर गोदामों में भर रखा है वे अब कम दाम के कारण चिंतित है और घाटे की सोच कर उनके पसीने छूट रहे हैं।

sandeep chawrey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned