खाद-बीज गुणवत्ता की होगी जांच

खरीफ का सीजन शुरू हो रहा है। खेतों में बोवनी का समय जून से शुरू हो जाएगा।

By: Rajendra Sharma

Published: 16 May 2018, 12:02 PM IST

छिंदवाड़ा .खरीफ का सीजन शुरू हो रहा है। खेतों में बोवनी का समय जून से शुरू हो जाएगा। बारिश की फसलों के उत्पादन के लिए खाद बीज की दुकानों में किसानों की भीड़ भी उमड़ेगी। किसानों को बोवनी के लिए अनाज, दलहनों और सब्जियों के बीज मिलें, वे ज्यादा उपज देने वाले हों, साथ ही जो उर्वरक वे खेतों में डालना चाहते हंै, वे गुणवत्तायुक्त हों, इसके लिए कृषि विभाग का विशेष अभियान शुरू हो गया है। विभाग के मैदानी अधिकारी पूरे जिले में इनकी बिक्री करने वाली दुकानों की आकस्मिक जांच करेंगे। देखेंगे कि जो सामग्री बेची जा रही है वह सही है कि नहीं।
उर्वरक, बीज और पौध संरक्षण औषधि गुण नियंत्रण का यह सघन अभियान १५ मई से १५ जुलाई तक चलेगा जब तक बोवनी का काम पूरा नहीं हो जाता। इसके लिए जिला स्तर पर एक दल का गठन किया गया है। उपसंचालक कृषि केपी भगत ने बताया कि जिले में उर्वरकों के साथ बीज भी किसानों के लिए उपलब्ध हो गए हंै। समितियों को तो खाद और उर्वरक मुहैया कराने का क्रम शुरू हो गया है। जितनी डिमांड बुलाई जाती है उसमें से २५ प्रतिशत खाद बीज निजी विक्रेताओं को विक्रय के लिए दिया जाता है।

जांच में यह देखेगी टीम

विभाग ने जो जांच दल बनाया है उसमें विशेषज्ञ अधिकारी और मैदानी कर्मचारी दुकानों पर जाकर देखेंगे कि विक्रेता जो बीज, खाद और दवा बेच रहे हैं वह सही है या नहीं। उनकी खरीदी कहां से की गई है और नियम विर्द्ध उनका भंडारण तो नहीं किया गया है। यदि संदेह होता है तो वे दुकान से नमूने लेकर उसकी जांच कराने भी भेजेंगे। उनकी दुकानों और स्टोर का निरीक्षण भी किया जाएगा।

गड़बड़ी मिली तो होगी कार्रवाई

विक्रेताओं ने कोई गड़बड़ी की या फिर इसमें कुछ अनियमितताएं पाई गईं तो उनके खिलाफ विभिन्न एक्ट के अंतर्गत कार्रवाई की जाएगी। थोक और फुटकर दोनों तरह के विक्रेताओं के खिलाफ कोई भी मामला बना तो गुण नियंत्रण आदेश १९८५ के प्रावधन के अनुसार कीटनाशी अधिनियम १९६८ और नियम १९७१ के तहत सीड एक्ट १९६६, सीड कंट्रोल आर्डर १९८३ के अनुसार विभिन्न धराओं में मामला दर्ज किया जाएगा।

Rajendra Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned