शादी के बाद दूल्हे संग धरने पर बैठी दुल्हन

शादी के बाद दूल्हे संग धरने पर बैठी दुल्हन
chhindwara

इससे गांव के लोगों को पगडंडी के रास्ते से आना-जाना पड़ता है। गांव में वाहन भी नहीं जा सकता है।  इसके लिए बुधवार को गांव के लोग कलेक्टर कचहरी पर धरने पर बैठे थे।

छिंदवाड़ा/नागपुर. महाराष्ट्र के नागपुर-औरंगाबाद हाईवे पर स्थित हिंगोली जिले के मलई गांव में बुधवार को बारातियों का वाहन गांव की ओर नहीं जा सकी। इस कारण शादी के बाद दूल्हा-दुल्हन ने कलेक्टर के ऑफिस पहुंचे और वहां धरने पर बैठे गए। जानकारी के अनुसार मलई गांव के लोग सालों से गांव के लिए पक्की सड़क बनाने की मांग कर रहे हंै। इस गांव के लिए कच्ची सड़क बनाई गई थी, लेकिन कुछ लोगों ने कब्जा कर लिया है।
इससे गांव के लोगों को पगडंडी के रास्ते से आना-जाना पड़ता है। गांव में वाहन भी नहीं जा सकता है।  इसके लिए बुधवार को गांव के लोग कलेक्टर कचहरी पर धरने पर बैठे थे। बतया जाता है कि गांव लक्ष्मण पांडे की बेटी की शादी बुधवार को होने वाली थी। इससे पहले गांव के लिए कच्ची सड़क बनाने का ज्ञापन दिया गया था। प्रशासन ने गांव वालों के ज्ञापन की दखल नहीं ली। इसलिए बुधवार गांव वालों को आंदोलन करना पड़ा। पांडे की बेटी की शादी के लिए बाराती टेम्पो और जीप लेकर पहुंचे थे, लेकिन वे वाहन गांव तक न ले जा सके।
गांव से चार किलोमीटर दूर पर ही वाहन छोडऩा पड़ा और पैदल चलकर शादी में शामिल हुए। जिस वजह से दूल्हे को भी गुस्सा आया और उसने मंडप में शादी से इनकार कर दिया। इसलिए गांव के लोगों ने दोनों की शादी जिलाधिकारी कार्यालय पर कराने का फैसला किया, लेकिन पुलिस की मध्यस्थता से निर्णय वापस लिया गया। शादी के बाद गांव वालों के साथ दूल्हा और दूल्हन भी धरने पर बैठ गए। प्रशासन ने सड़क जल्दी बनाने का आश्वासन दिया, तब जाकर देर रात धरना वापस लिया गया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned