Mass marriage: सात फेरे लेने से पहले इतनी प्रकिया,निकल गया पसीना

जनपद पंचायत और नगर निगम में दिन भर बैठे रहे युवक-युवतियों और परिजनों के समूह

 

छिंदवाड़ा/आगामी 20 फरवरी को पुलिस लाइन ग्राउण्ड में हो रही सामूहिक शादी के आवेदन,शपथपत्र और पंजीयन करने में युवक-युवतियों और परिजनों का पसीना निकल गया। जनपद पंचायत और नगर निगम योजना कार्यालय में दिन भर अलग-अलग समूह विवाह में भाग लेने की प्रक्रिया पूरा करने जुटा रहा। पूरे जिले के जनपद और नगरीय निकायों में शुक्रवार को जोड़ों की संख्या 15 सौ होने की संभावना है। शनिवार को पंजीयन का अंतिम दिन रहेगा।
मुख्यमंत्री कमलनाथ की उपस्थिति में हो रहे इस सामूहिक विवाह के आयोजन में शहरी और ग्रामीण अधिकारियों को लगाया गया है। पहली प्राथमिकता युवक-युवतियों के पंजीयन की होने से उनसे आवेदन,पहली शादी का शपथपत्र,घर पहुंच जांच समेत अन्य प्रक्रियाएं पूरी कराई जा रही है। एक दिन पहले पूरे जिले से 1325 जोड़ों के पंजीयन हुए थे। दूसरे दिन जनपद पंचायत,नगर निगम में पंजीयन कराने वाले लोगों की भीड़ रही। इसके अलावा ग्रामीण इलाकों से भी पंजीयन करवाए जाते रहे। इनमें सामान्य और दिव्यांग जोड़े शामिल है। उपसंचालक सामाजिक न्याय सुशील गुप्ता का कहना है कि 15 फरवरी को सामूहिक विवाह के पंजीयन की अंतिम तिथि रखी गई है। इसके बाद प्रशासन सामूहिक विवाह की तैयारियों में जुटेगा। फिलहाल सामूहिक विवाह में 15 सौ जोड़ों के पार होने की संभावना है।
...
इधर..459 जोड़ों के लिए नहीं आई सहायता राशि
पिछले साल 2019 में सामूहिक विवाह में भाग लेनेवाले 459 जोड़ों को अभी तक 48 हजार रुपए की विवाह प्रोत्साहन राशि नहीं मिल सकी है। इसके लिए सामाजिक न्याय विभाग द्वारा करीब 2.34 करोड़ रुपए का बजट मांगा गया था। हाल ही में विभाग का ग्लोबल बजट में बिल भी डाले गए थे लेकिन फिर भी पास नहीं हो पाए। इससे इन जोड़ों में निराशा है। ये अभी तक सरकारी दफ्तरों के चक्कर काट रहे हैं।
....

Patrika
manohar soni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned