scriptMaterial prices increase in lockdown | लॉकडाउन में उछले मटेरियल के दाम, छोटे-से आशियाना का बिगड़ा बजट | Patrika News

लॉकडाउन में उछले मटेरियल के दाम, छोटे-से आशियाना का बिगड़ा बजट

रेत, सीमेंट और लोहा महंगा होने से 20 फीसदी बढ़ी लागत : मध्यम वर्ग को जुटाने पड़ रहे अतिरिक्त संसाधन

छिंदवाड़ा

Published: June 14, 2020 05:53:31 pm

छिंदवाड़ा/ कोरोना लॉकडाउन के तीन माह के दौरान मांग-आपूर्ति में संतुलन बिगडऩे से रेत, सीमेंट और लोहा के दामों में इतना उछल आया कि छोटे-से आशियाना बनाने का मध्यम वर्ग का सपना भी धूमिल होता नजर आने लगा है। निर्माण लागत निर्धारित बजट पर भारी पडऩे से अब अतिरिक्त संसाधन जुटाने पड़ रहे हैं।
25 मार्च को लागू देशव्यापी लॉकडाउन से पहले मटेरियल लागत सामान्य थी। मई में सरकार ने धीरे-धीरे छूट दी तो पहले सीमेंट और लोहा में आपूर्ति की समस्या के चलते उछाल आया। इन कंपनियों ने सीधे तौर पर अपेक्षाकृत भाव बढ़ा दिए। फिर स्थानीय स्तर पर रेत के दाम भी सप्लायर्स ने भी अधिक कर दिए। इन तीन सामग्री के रेट बढऩे से निर्माणाधीन मकानों की लागत में 20 फीसदी तक वृद्धि हो गई। इसका भार अब मध्यम वर्ग को सहन करना पड़ रहा है। नगर निगम के अधीन प्रधानमंत्री आवास योजना के घटक बीएलसी मकानों में भी हितग्राहियों को 2.50 लाख रुपए के अनुदान में मकान का निर्माण पूरा होता नजर नहीं आ रहा है। वे इसकी शिकायत नगर निगम योजना कार्यालय में भी करते देखे गए हैं।
13_chw_11_dc.jpg
लागत वृद्धि से शुरू नहीं कर पा रहे प्रोजेक्ट

ठेकेदार शकील हनीफी ने प्रियदर्शिनी कॉलोनी, गुलमोहर कॉलोनी, खजरी और परासिया रोड में लॉकडाउन से पहले मकान निर्माण के अनुबंध किए थे। अब उनकी हिम्मत बाजार की स्थिति देखकर जवाब दे रही है। वे कह रहे हैं कि निर्माण मटेरियल के साथ मजदूरी दर में भी बढ़ोत्तरी हो गई है। ऐसे हालत में काम करना वाकई चुनौतीपूर्ण है। इससे निम्न आय वर्ग के लोगों की हालत का अंदाजा लगाया जा सकता है।
मांग-आपूर्ति में संतुलन बिगडऩे से बढ़े दाम

मटेरियल सामग्री व्यवसाय से जुड़े नरेश साहू का कहना है कि कोरोना लॉकडाउन के दौरान मांग-आपूर्ति का संतुलन बिगडऩे से लोहा-सीमेंट के दाम बढ़ गए हैं। सीमेंट की आपूर्ति में पहले कमी थी, अब आवागमन शुरू होने से सुधर गई है। नगर निगम ठेकेदार एसोसिएशन अध्यक्ष देवेन्द्र धनोरिया ने भी कहा कि रेत, सीमेंट और लोहा के दाम बढऩे से निर्माण लागत में 20 फीसदी की वृद्धि हुई है।
मटेरियल सामग्री में इस तरह आया उछाल

सामग्री ---- मार्च ---- जून
सीमेंट ---- 280 ---- 330 रुपए प्रति बोरी
लोहा ---- 4200 ---- 4600 रुपए प्रति क्विंटल
रेत ---- 3000 ---- 4000 रुपए ट्रैक्टर ट्रॉली
मिस्त्री ---- 400 ---- 450-500 रुपए प्रतिदिन मजदूरी
कुली ---- 225 ---- 250-300 रुपए प्रतिदिन मजदूरी
रेजा ---- 180 ---- 210 रुपए प्रतिदिन मजदूरी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

बेरोजगारों के लिए सबसे बड़ी खबर: राजस्थान में अब अधिकांश भर्तियों में नहीं होगा साक्षात्कारQUAD Summit: अमरीकी राष्ट्रपति ने उठाया रूस-यूक्रेन युद्ध का मुद्धा, मोदी बोले- कम समय में प्रभावी हुआ क्वाड, लोकतांत्रिक शक्तियों को मिल रही ऊर्जाWhat is IPEF : चीन केंद्रित सप्लाई चैन का विकल्प बनेंगे भारत, अमरीका समेत 13 देशWeather Update: दिल्ली में आज भी बारिश के आसार, इन राज्यों में आंधी-तूफान की संभावनाहरियाणा के जींद में सड़क हादसा: ट्रक और पिकअप की टक्‍कर में 6 की मौत, 17 घायलRajasthan: सितंबर से दिए जाएंगे महिला मुखियाओं को इंटरनेट समेत मुफ्त 1.33 करोड़ स्मार्ट फोन, 7500 करोड़ का टेंडरटाइम मैगजीन ने जारी की 100 प्रभावशाली लोगों की लिस्ट, जेलेंस्की, पुतिन के साथ 3 भारतीय भी शामिलHaj 2022: दो साल बाद हज पर जाएंगे मोमिन, पहला भारतीय जत्था 4 जून को होगा रवाना
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.